प्रतिभा की धनी है बॉलीवुड गायिका पायल देव




कहते है प्रतिभा किसी की मोहताज नहीं होती  है। जब वक्त आता है प्रतिभा उभकर सामने आ जाती है। ऐसा ही कुछ बॉलीवुड की मस्तानी गर्ल पायल देव के साथ हुआ। पायल देव बाजीराव मस्तानी मूवी से पहले कई मूवी में गा चुकी थी लेकिन प्रतिभा और प्रशंसा उन्हें बाजीराव मूवी से मिली। जब उन्होंने बाजीराव मस्तानी मूवी में अब तोहे जाने न दूंगी’ और ‘अलबेला सजन आयो रे गाने को अपनी आवाज दी। payal dev biography 

इस दो गाने से पायल देव रातों रात बड़ी स्टार बन गयी। अब उनकी आवाज की गिनती श्रेया घोषाल और सुनिधि चौहान जैसे बड़े गायिका में होती है। पायल देव मूलतः झारखण्ड की रहने वाली है। इनका जन्म 26-फ़रवरी-1989 को हुआ था। इनके पिता जी कोल् माइंडस में काम करते है। जिनका नाम समीर कुमार बनर्जी है और माता का नाम अनिता बनर्जी है। payal dev biography 

अब तोहे जाने न दूंगी

इन्होने अपनी शिक्षा रांची झारखण्ड में प्राप्त की है। संगीत और गायन का गुण पायल ने अपनी माँ अनिता बनर्जी से सीखा। बचपन से पायल एक बेस्ट प्ले बैक सिंगर बनना चाहती थी। स्कूल स्तर पर इन्होने गायन क्षेत्र में कई अवार्ड भी जीते। पायल स्कूलिंग के बाद ग्रेजुएशन पढ़ाई के लिए रांची आईं। जंहा वीमेंस कॉलेज से म्यूजिक में ग्रेजुएशन किया। रांची के आदित्य देव से उनकी शादी हुई है। आदित्य का भी इंट्रेस्ट म्यूजिक में है। दोनों मुंबई में रहते हैं। payal dev biography 

अपने बारे में पायल बताती है कि आज जो कुछ है। वो सब उनके माता-पिता और दोस्तों के कारण है। संजय लीला भंसाली के बारे में पायल कहती है कि वो नेक दिल इंसान है। मेरी और मेरी फैमिली के लिए खुशी का क्षण है कि मुझे संजय जी ने इस काबिल बनाया। मेरी प्रतिभा को परखा और अवसर दिया। प्रतिभा की स्कूल स्तर की फ्रेंड अनुपमा का कहना है कि पायल बचपन से बहुत अच्छा गाती थी। जब वो गाती थी ऐसा लगता था मानो कोई बॉलीवुड की गायिका गा रही है। अब तक पायल देव को कई अवार्ड मिल चुके है। जिसमें मिर्ची म्यूजिक अवार्ड में ‘बेस्ट अपकमिंग फीमेल वोकलिस्ट ऑफ द इयर प्रमुख है। payal dev biography 

मोदी कोई जादूगर नहीं है जो मिनटों में भारत को अमेरिका बना देंगे : नाना पाटेकर

महशूर गायक शान के साथ पायल देव ने एक लाइव कॉन्सर्ट किया था। तब शान ने पायल देव की भूरि-भूरि प्रशंसा करते हुए कहा था कि एक दिन पायल अपने माता-पिता का नाम रौशन करेगी।
पायल देव के गाने

अब तोहे जाने न दूंगी : बाजीराव मस्तानी
अलबेला सजन आयो रे : बाजीराव मस्तानी
रामगोपाल वर्मा की ‘सत्या 2
‘ग्रैंड मस्ती’,
1920’
‘क्यूट कमीना’ का टाइटल ट्रैक 

( प्रवीण कुमार )