20 मार्च 2018 को मनाया जाएगा गौरी पूजन,जानिए कथा एवम इतिहास




हिन्दू धर्म के अनुसार गौरी पूजन प्रत्येक मंगलवार को किया जाता है। हिंदी पंचांग के अनुसार वर्ष का प्रथम गौरी पूजन गुरुवार 20 मार्च 2018 को मनाया जाएगा। माँ गौरी का यह व्रत मंगला गौरी के नाम से विख्यात है। स्त्रियां अपने पति की लम्बी आयु के लिए मंगला गौरी का व्रत करती है। devotional gauri puja history 

गौरी पूजा की कथा devotional gauri puja history 

प्राचीन काल में आनंद नगर में धर्मपाल नामक एक सेठ अपनी पत्नी के साथ सुख पूर्वक जीवन-यापन करता था। धर्मपाल के जीवन में धन, वैभव की कोई कमी नही थी, किन्तु उसे केवल एक बात की दुःख हमेशा सताती थी कि उनकी कोई संतान नही थी। सेठ धर्मपाल नियमित पूजा-पाठ तथा दान-पुण्य किया करते थे। कुछ समय पश्चात पूजा-पाठ तथा अच्छे कार्यो से सेठ को पुत्र की प्राप्ति होती है।अधिक जानकारी के लिए क्लिक करें www.hindumythlogy.org

खुदा कसम एक दिन मैं जरूर पीएम बनूंगा : राहुल गाँधी