असुरों के लिए काल है मेहंदीपुर के भगवान बालाजी




आज कल हर व्यक्ति की जिंदगी में उतार चढ़ाव आता रहता है। जिससे व्यक्ति ये सोचने लगता है की कही उस पर शनि का प्रभाव तो नहीं है। इस डर से वो ज्योतिष और पंडितो से मिलता है लेकिन फिर भी वह संतुष्ट नहीं होता है। हिन्दू धार्मिकतो ग्रंथो के अनुसार जब शनि की दशा जीवन में प्रबल हो जाये तो हमें हनुमान जी की पूजा करनी चाहिए। वैसे भारत भर में अनगिनत हनुमान मंदिर है जहा सच्ची श्रद्धा और सेवा से हनुमान जी की पूजा की जाती है। जिसमें राजस्थान के दौसा जिले में स्थित मेहंदीपुर का बालाजी धाम प्रमुख है। mehandipur balaji story 

प्रेम से बोलिये जय श्री राम

जहाँ हर मांगी मन्नत पूरी होती है हर क्लेश ,पीरा और समस्त दुखो का निदान होता है। कहाँ जाता मेहंदीपुर के बालाजी धाम हनुमान के 10प्रमुख सिद्धपीठों में से एक है। मान्यता यह भी है कि इस स्थान पर हनुमानजी जागृत अवस्था में विराजमान हैं। यहाँ पर हर मांगी मन्नत बाला जी पूरा करते है और जिन भी व्यक्तियों के ऊपर बुरी आत्माओं या भूत-प्रेत का असर होता है बालाजी के मंदिर में आने से इन सब से छुटकारा मिल जाता है। mehandipur balaji story 

जानें भगवान विष्णु के छठे अवतार परशुराम की कहानी

यह कैसे होता है किसी को पता नहीं है ? लेकिन लोग सदियों से अपनी इच्छा पूर्ति व् बुरी आत्माओं से मुक्ति पाने के लिए यहाँ आते है और बालाजी उनपर कृपा कर उन्हें दुखो से मुक्त करते है लेकिन एक बात और भी कही गयी है कि हनुमान जी के मंदिर में रात को रुकना सख्त मना है। तो आप भी मेहंदीपुर के बालाजी मंदिर में हनुमान जी के दर्शनार्थ हेतु अवश्य जाए ताकि आपके जीवन की भी सभी बाधाएं दूर हो और जीवन में मंगल का आगमन हो। प्रेम से बोलिये जय श्री राम, जय हनुमान। mehandipur balaji story 

( राहुल कुमार )