2 जनवरी 2018 को है पौष पूर्णिमा ,जानिए व्रत की कथा एवं इतिहास




वेदों, पुराणों एवं शास्त्रों के अनुसार वर्ष के प्रत्येक मास में पूर्णिमा व्रत मनाई जाती है।  हिन्दू धर्म के शास्त्रानुसार पौष पूर्णिमा के दिन सूर्य देव को अघ्र्य देकर व नमक रहित व्रत करने से सुख, शांति और सम्पत्ति की प्राप्ति होती है। वर्ष के प्रत्येक पूर्णिमा के दिन हिन्दू धर्म में विशेष पूजा और दान का महत्व है। इस वर्ष मंगलवार 2 जनवरी 2018 को पौष पूर्णिमा मनाई जाएगी। पौष पूर्णिमा की कथा एवं इतिहास paush purnima vrat katha

पौष पूर्णिमा के दिन सत्यनारायण व्रत और पूजा का भी महत्व बताया गया है। इसे करने से भक्तो को अमोघ फल प्राप्त होता है। पौष पूर्णिमा के दिन प्रातः काल स्नानादि से निवृत होकर मधुसूदन भगवान को स्नान कराकर सुन्दर वस्त्रो से सजाकर उन्हें नैवेद्य अर्पित करते हुए पूजा अर्चना करनी चाहिए। अधिक जानकारी के लिए क्लिक करें www.hindumythology.org

बिटकॉइन के निवशकों पर शिकंजा कसना आसान नहीं है







Leave a Reply