दिल्ली भाजपा ने आयोजित किया जी.एस.टी. दिल्ली सम्बोधन




दिल्ली भाजपा ने डाॅ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी के जन्मदिवस के अवसर पर, जिन्होंने एक देश में एक ही विधान की वकालत की थी जी.एस.टी. दिल्ली सम्बोधन का आयोजन किया। केन्द्रीय वित्त मंत्री श्री अरूण जेटली इस कार्यक्रम में मुख्य वक्ता थे जिसकी अध्यक्षता भाजपा प्रदेश अध्यक्ष श्री मनोज तिवारी ने की।सैकड़ों व्यापारी संगठन और आर.डब्ल्यू.ए. नेता ने हजारों दिल्ली भाजपा कार्यकर्ताओं और नागरिकों के साथ इस कार्यक्रम में शामिल हुये। श्री अरूण जेटली के अतिरिक्त दिल्ली भाजपा अध्यक्ष श्री मनोज तिवारी, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री श्याम जाजू, सांसद श्रीमती मीनाक्षी लेखी, नेता प्रतिपक्ष श्री विजेन्द्र गुप्ता ने भी सम्बोधित किया। delhi bjp address people

केन्द्रीय मंत्री डाॅ. हर्ष वर्धन, श्री विजय गोयल, भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री श्यामा जाजू, महामंत्री डाॅ. अनिल जैन, प्रदेश संगठन महामंत्री श्री सिद्धार्थन, राष्ट्रीय मंत्री श्री महेश गिरी, श्री तरूण चुघ और सरदार आर पी सिंह, सांसद श्री रमेश बिधूड़ी, श्री प्रवेश वर्मा, श्रीमती मीनाक्षी लेखी, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष प्रो. विजय कुमार मल्होत्रा, श्री मांगे राम गर्ग, श्री सतीश उपाध्याय, नेता प्रतिपक्ष श्री विजेन्द्र गुप्ता, वरिष्ठ नेता और पार्टी पदाधिकारी सरदार अरविन्दर सिंह लवली, श्री पवन शर्मा, श्री कुलजीत सिंह चहल, श्री राजेश भाटिया, श्री रविन्द्र गुप्ता, श्री अभय वर्मा, श्री राजीव बब्बर, सरदार कुलवंत सिंह बाठ, श्री सुनील यादव और प्रमुख व्यापारी नेता श्री प्रवीण खंडेलवाल, श्री रमेश खन्ना, श्री सतीश गर्ग, श्री विजय पाल सहित वरिष्ठ भाजपा नेता इस अवसर पर उपस्थित थे। delhi bjp address people




अपने स्वागत भाषण में श्री मनोज तिवारी ने कहा कि 1947 में सरदार बल्लभ भाई पटेल और डाॅ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी जैसे नेताओं की इच्छा शक्ति ने देश को एकीकृत किया किन्तु दशकों से विभिन्न राज्यों में आर्थिक विषमताओं के कारण लोगों को अपेक्षित लाभ नहीं मिला। अब प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व मंे काला धन को समाप्त करने के लिए पहले तो विमुद्रीकरण को सफलतापूर्वक लागू किया गया उसके बाद अब जी.एस.टी. के लागू होने से देश अब एक कर व्यवस्था के साथ एक बाजार बन गया है जिससे कि समाज के सभी वर्गों को लाभ मिलेगा। दिल्ली की जनता और व्यापारियों की ओर से श्री तिवारी ने वित्त मंत्री श्री अरूण जेटली को विमुद्रीकरण तथा जी.एस.टी. की प्रक्रिया को पूरा करने के लिए उन्हें धन्यवाद दिया। delhi bjp address people

भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री श्याम जाजू ने देश की जनता के फायदे दिलाने के उद्देश्य से आर्थिक व्यवस्था में परिवर्तन लाने के लिए वित्त मंत्री श्री अरूण जेटली की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि श्री जेटली पिछले 4 दशकों से जनता के मुद्दों को उठाते रहे हैं। उन्होंने एक छात्र नेता के रूप में जनसेवा प्रारम्भ की थी और छात्र राजनीति में भी परिवर्तन लाने में सफल हुये, आपातकाल के दौरान लोगों के मूल अधिकारों के लिए लड़े और मंत्री के रूप में देश की आर्थिक प्रगति के लिए श्री अटल बिहारी वाजपेयी सरकार और वर्तमान श्री नरेन्द्र मोदी सरकार के अधीन कार्य किया है। श्री जाजू ने उन विपक्षी दलों की कड़ी निंदा की जो जी.एस.टी. के मुद्दे पर लोगों को गुमराह कर रहे है और अधिकांश विपक्षी दल इसका अनुचित लाभ उठाना चाहते हैं। delhi bjp address people

श्री अरूण जेटली ने डाॅ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी के जन्मदिवस पर, जिन्होंने एक देश, एक विधान के आदर्श की वकालत की थी, जी.एस.टी. दिल्ली सम्बोधन आयोजित करने के लिए दिल्ली भाजपा की प्रशंसा के साथ अपना सम्बोधन शुरू किया और जी.एस.टी. कानून का निर्माण भी इसी दृष्टि कोण से हुआ है। कल ही जब जम्मू-कश्मीर ने जी.एस.टी. का अनुमोदन कर दिया तो निश्चितरूप से डाॅ. मुखर्जी की आत्मा को शांति मिली होगी।

श्री जेटली ने कहा कि सरदार बल्लभभाई पटेल ने देश के भौगोलिक एकीकरण के लिए कार्य किया और उसमें सफल भी हुये किन्तु देश की आर्थिक व्यवस्था विभिन्न प्रदेशों में अलग-अलग रही। 70 वर्ष बाद प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी सरकार ने पूरे उत्साह के साथ सभी राज्यों को 17 प्रकार के स्थानीय कर और 23 प्रकार के उपकरों को छोड़ने और माल तथा सेवा कर कानून स्वीकार करने के लिए राज्यों को सफलता पूर्वक मनाया। जी.एस.टी. के कार्यान्वयन के साथ ही भारत के आर्थिक एकीकरण का सपना भी पूरा हुआ।

जी.एस.टी. की कल्पना श्री अटल बिहारी वाजपेयी द्वारा वर्ष 2003 में गठित कर सुधार समिति ने की थी। हालांकि कांग्रेस वर्ष 2004 में सत्ता में आई और इस पर आगे कार्य किया किन्तु अधिक उत्पादन करने वाले इसके सहयोगी राज्यों ने भी इसमें विलम्ब किया। अंततः श्री नरेन्द्र मोदी सरकार की इच्छा शक्ति से जिन्होंने उन राज्य सरकारों को क्षतिपूर्ति का वायदा किया जिन्हें राजस्व में नुकसान हो सकता था, सभी राज्यों को जी.एस.टी. स्वीकार करने में सफलता प्राप्त हुई।

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा गठित जी.एस.टी. परिषद् ने एक राष्ट्र, एक कर, एक बाजार का आधार विकसित किया और आज यह एक सच्चाई है।

श्री जेटली ने कहा कि जी.एस.टी. से जनसाधारण, व्यापारियों, ट्रांस्पोर्टरों और पूरे देश को एक समान लाभ मिलेगा। मालों की आवाजाही में तेजी आने से ट्रांस्पोर्टरों को लाभ होगा जो आज तक राज्य की सीमाओं और चुंगी चैकियों पर समय बर्बाद करते थे।

मालों के तेजी से आवागमन तथा करों के कम होने से बाजारों में नियमित सप्लाई सुनिश्चित होगी जिससे कीमतें कम होंगी और लोगों को तथा व्यापारियों को फायदा होगा। श्री जेटली ने कहा कि हमनें जम्मू-कश्मीर सहित किसी भी राज्य पर जी.एस.टी. के संबंध में अपना निर्णय नहीं थोपा किन्तु हमनें उन्हें यह दिखाया कि जी.एस.टी. लागू न करने से व्यापार और राजस्व में उन राज्यों और व्यापारियों को कितना नुकसान होगा और उन राज्यों को कितना फायदा होगा जो इसे लागू करेंगे।

loading…


अनार के गुणकारी फायदे।