निस्वार्थ सेवा के अजब मिसाल है लाल बिहारी लाल




छपरा, बिहार में 10 अक्टूबर 1974 को जन्में श्री लाल बिहारी लाल साहित्य, पत्रकारिता एवं समाजसेवा के अजब मिसाल हैं। आज जहां कुछ लोग समाज सेवा का चोला ओढ़ कर दुनिया की नज़रोंमें धूल झोंकने मे लगे हैं वहीं कुछ व्यक्ति ऐसे भी हैं जो निस्वार्थ भाव से देश और समाज की सेवा में लगे हैं। जिनका एक मात्र उद्देश्य समाज हित है। lal bihari lal biography 

समाज के लिए कुछ करने का इनका जुनून इस हद तक बढ़ जाता है कि वह अपनी जीवका का साधन जुटाने के बजाय समाज और देश हित के प्रति समर्पित हो जाते हैं।ऐसे ही समाज सेवी,कवि और लेखक लाल विहारी लाल जिन्होंने अपनी सादगी और समाज के प्रति सेवाभाव के अजब मिसाल कायम की है। lal bihari lal biography 

लाल बिहारी लाल समय समय पर सामाजिक कार्यक्रमों के माध्यम से लोगों को जागरूक करते रहते हैं। श्री लाल समाज सेवा के अलावा पर्यावरण संरक्षण के लिए भी विभिन्न कार्यक्रम और काव्य संगोष्ठी आयोजित करपर्यावरण संरक्षण के प्रति समाज मे महत्वपूर्ण जिम्मेदारी निभा रहे है। lal bihari lal biography 

हिन्दी हिन्दुस्तान की ही रही नहीं अब भाषा

वन बचाओ पेड़ लगाओ जल ही जीवन है के तहत इनका मानना है कि जल है तो कल है एवं स्वच्छ रहो स्वास्थ्य रहो आदि स्लोगन से लोगों को जागरूक करते रहते है।विभन्न पत्र- पत्रकाओं में लेखों के माध्यम से भी स्वच्छता,पर्यावरण,जल ही जीवन हैतथा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ,नदियों की सफाई तथा जल संरक्षण आदि की झलक इनकी लेखन में देखने को मिलती है। lal bihari lal biography 

लाल जी ने बदरपुर क्षेत्र मे विकास कार्यों को लेकर भी काफी संघर्ष किया है चाहे वह यातायात की समस्या हो या सड़कों पर गड्ढों की या बारिश के दिनों मे जल भराव की समस्या हो निरंतर अपनी लेखनी के माध्यम से या प्रत्यक्ष रूप से अधिकारियों से मिलकर लोगों की समस्यों को दूर करने मे दिन रात लगे रहते हैं।लाल बिहारी लाल जी की रचनाएं(क्रांति कविता) आज भी नालंदा विश्विद्यालय के एम.ए. के अलावा बिहार विश्व विद्यालय के बी.ए. में पढ़ाई जा रही हैं। lal bihari lal biography 

जन्म दिन की हार्दिक शुभकामनायें

43वर्षीय लाल विहारी लाल जी स्वयं तो पिछले कई वर्षों से समाज कार्य में जुटे ही हैं साथ ही उनकी पत्नी एवं बच्चें भी इनके सामाजिक कार्यों में पूर्ण सहयोग कर रहे हैं। बदरपुर क्षेत्र में लोगों को अपने दैनिक जरूरतों को पूरा करने के लिए काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था जैसे राशन कार्ड आधार कार्ड या अन्य सरकारी कामों के लिए या तो लोगों को कार्यालय जाना पड़ता था या फिर स्थानीय नेताओं से मदद की गुहार लगानी पड़ती थी । lal bihari lal biography 

हर दर्द की दवा है लोंग

इससे छुटकारा दिलाने के लिए उन्होंने बदरपुर दिग्दर्शिका तैयार की है। इस दिग्दर्शिका में क्षेत्र से संबंधित अधिकतर कार्यालय व अधिकारियों के टेलीफोन नंबर व उनकी ई मेल आईडी भी उपलब्ध कराई है, जिससे लोगोंको कार्यालय के अनावश्यक चक्कर ना लगाने पड़ेंऔर घऱ बैठे ही समस्या का समाधान हो सके। लाल बिहारी लाल जी द्वारा संचालित संस्था लाल कला मंच पूर्वांचल वासियों के लिए छठ पर्व पर लोक संगीत और भजन आधारित विशेष कार्यक्रम भी आयोजित करती है। lal bihari lal biography

इसके अलावा प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे युवाओं को प्रोत्साहित करने के लिए समय-समय पर सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता आयोजित करके उनका मार्ग दर्शन भी करते रहते हैं। वूमेन एक्सप्रेस की ओऱ से लाल बिहारी लाल जी को जन्म दिन की हार्दिक शुभकामनायें इस आशा के साथ कि वह इसी तरह समाज एवं साहित्य की अनवरत सेवा करते रहेगे। lal bihari lal biography 

( नीरज पाण्डेय )



Leave a Reply