दिल्ली बीजेपी ने पंडित दीनदयाल जन्मशताब्दी पर आयोजित किया कार्यक्रम




पंडित दीनदयाल उपाध्याय जन्मशताब्दी वर्ष में पार्टी विस्तारकों के विकास को लेकर प्रदेश कार्यालय में एक बैठक हुई जिसमें भाजपा के राष्ट्रीय सह-संगठन महामंत्री श्री शिव प्रकाश ने प्रदेश अध्यक्ष श्री मनोज तिवारी, संगठन महामंत्री श्री सिद्धार्थन एवं उपाध्यक्ष श्री अभय वर्मा की उपस्थिति में कार्यकर्ताओं का मार्गदर्शन किया। pandit deendayal janamdin 

500 ऐसे विस्तारक विकसित हों

प्रारम्भिक दौर में दिल्ली में पार्टी ने लगभग 3000 ऐसे विस्तारक नियुक्त किये जो 23 जून से 6 जुलाई तक एक पखवाड़ा दिल्ली में पार्टी द्वारा दिये गये कार्यक्षेत्र में पंडित दीनदयाल जी के सिद्धांतों एवं पार्टी की नीतियों का आम लोगों के बीच जाकर प्रचार प्रसार करके संगठन विस्तार के लिए काम करेंगे। pandit deendayal janamdin 

बैठक में राष्ट्रीय सह-संगठन महामंत्री श्री शिव प्रकाश ने ऐसे विस्तारकों को विकसित करने पर चर्चा की जो 6 माह से एक वर्ष तक के लिए अन्य राज्यों में जाकर पार्टी के संगठन विस्तार का कार्य करेंगे। pandit deendayal janamdin 

श्री शिव प्रकाश ने कहा कि दिल्ली में 14 संगठनात्मक जिले हैं और प्रत्येक जिले को अधिक से अधिक ऐसे विस्तारक बनाने चाहिये जो एक वर्ष तक पूर्णकालिक के रूप में काम करें और उन्हें चुनने में सबसे अधिक महत्व अनुशासन एवं विशेष उपलब्धियों पर ध्यान देना होगा। pandit deendayal janamdin 

दिल्ली के साथ ही अन्य राज्यों में जाकर कार्य करने में सक्षम हों

ये विस्तारक देश के विभिन्न स्थानों पर जाकर पंडित दीनदयाल उपाध्याय के एकात्मक मानववाद एवं समरस्ता के मौलिक सिद्धांतों को जनजन तक पहुंचाने के साथ ही संगठन को सुदृढ़ करने के लिए कार्य करेंगे। pandit deendayal janamdin 

अरविन्द केजरीवाल के जुड़े पंजाब पुलिस द्वारा गिरफ्तार आतंकी से तार

श्री मनोज तिवारी ने कहा कि ये विस्तारक पार्टी की नींव को सुदृढ़ करने के लिए काम करेंगे क्योंकि किसी भी दल का विकास केवल राजनीतिक सफलताओं पर निर्भर नहीं करता बल्कि उसमें वैचारिक परिपक्वता का महत्व होता है। pandit deendayal janamdin 

ये विस्तारक जो एक वर्ष के लिए कार्य करेंगे वो संगठन के लिए एक ऐसे अनुशासन में काम करेंगे जो उनमें नेतृत्व के उत्तम गुण विकसित करेगा। दिल्ली में संगठन प्रयास करेगा कि लगभग 500 ऐसे विस्तारक विकसित हों जो 6 माह से एक वर्ष तक दिल्ली के साथ ही अन्य राज्यों में जाकर कार्य करने में सक्षम हों। pandit deendayal janamdin