पठानकोट में आतंकी हलचल तेज़, सेना ने जारी किया अलर्ट




पठानकोट एयरबेस पर हुए आतंकी हमले के बाद इंडो पाक सिमा के साथ लगते पूरे इलाके में सुरक्षा के पुख्ता प्रबन्द किये गए थे जो कि समय के साथ साथ फीके पड़ते जा रहे है अगर बात करे बामियाल सेक्टर में बहते उज्ज दरिया पर बने पुल की तो सुरक्षा के नजरिये से ये पुल बहुत एहम माना जाता है। pathankot air base attack 

शरारती तत्वों की और से चोरी कर ली गई है

क्योंकि ये पुल इंडो पाक सिमा से मात्र दो किलोमीटर दूरी पर है और एयरबेस पर हमला करने वाले आतंकियों ने इसी की आड़ ली थी जिसके चलते इस पर सुरक्षा के नजरिये से जो सोलर लाइट लगाई गई थी बो अब यां तो पंछियों के घोंसलों में तब्दील हो गयी है यां फिर चोरो द्वारा उनकी बैटरी चोरी कर ली गयी है जिसकी ओर किसी प्रशासन का अभी तक किसी ने ध्यान नही दिया जबकि डी सी पठानकोट इस पुल पर लगी लाइटों को ठीक करबाने की बात की जा रही है pathankot air base attack 

ये है उज्ज दरिया पर बनाया गया पुल जिस पर एयरबेस पर हुए हमले के बाद मिले सबूतों पर की आतंकी इसी रस्ते से एयरबेस में घुसे थे को देखते हुए रात के समय रौशनी के लिए लाइट लगाई गई थी जो की डेड साल खत्म होने के साथ साथ अब बुझने लगी है कियोकि इस पुल पर लगी कुछ लाइट खराब हो चुकी है। pathankot air base attack 

नाका लगाया जाए

कुछ की बैटरी चोरी हो गई है और कुछ पर पंछियों ने अपने घोंसले बनाये हुए है इसके बारे में स्थानीय निवासियों ने हमारी टीम के साथ बात करते हुए कहा की जहां पर लाइट होनी बहुत जरुई है जो की सुरक्षा के नजरिये से भी एहम रोल अदा करती है इसके इलाबा इस पुल के दोनों तरफ पुलिस नाके होने चाहिए जो की नहीं है ये भी सुरक्षा में सेंद लगा सकते है इस लिए जहां पर नाके भी लगाए जाने चाहिए pathankot air base attack 

पठानकोट के बुजुर्ग प्रीतम सिंह की कहानी जानिए उन्ही की जुबानी

दूसरी तरफ जब इस बारे में डी सी पठानकोट से बात की गई तो उन्होंने माना की इस पुल पर लाइट यां तो खराब हो चुकी है यां फिर कुछ शरारती तत्वों की और से चोरी कर ली गई है जिसके पीछे कारण ये भी है की वहां पुल पर किसी तरह की सुरक्षा नाका न होना इस लिए हमने पुलिस प्रशासन से भी बात की है की इस पल पर नाका लगाया जाए तांकि लाइट के साथ साथ आने जाने वालो पर पुलिस द्वारा नजर रखी जा सके। pathankot air base attack