पठानकोट की सुंदरता पर लगा स्वर्गीय विनोद खन्ना का ग्रहण




पठानकोट शहर की सुन्दरता को आज कल ग्रहण ही लगता जा रहा है चाहे किसी भी चौराहे को देख लो लोगों की और से अपने अपने पोस्टर लगा शहर की सुंदरता को ग्रहण लगाया जा रहा है। अब हलात ऐसे हो गए है की जो पठानकोट शहर के लीडर है जो कहते फिरते है की हम पठानकोट शहर को एक सुंदर शहर बना देगें ता जो कोई बाहर से आए उसे लगे की व् स्वर्ग में आ गए है पर अब वही लीडर अपनी नेता गिरी चमकाने के लिए शहर को गंदा करने में लगे हुए है। pathankot beauty eclipse 

पोस्टर शहर की सुंदरता को ख़राब कर रहे है

जी हाँ हम बात कर रहे है पठानकोट से एक भाजपा के बड़े लीडर की जिस ने शहर का कोई भी चौराहा नहीं छोड़ा यहां अपने लोगों को लुभाने वाले पोस्टर न लगाए हों बता दे की जब से गुरदासपुर पठानकोट के लोगों के दिलों की दड़कन रहे भाजपा सांसद विनोद खन्ना जी का देहांत हुआ है तब से इस सीट पर फिर चुनाव होने के चलते पठानकोट के भाजपा लीडर के लीडरों में टिकट लेने की होड़ मची हुई चाहे उसमे स्वर्गीय भाजपा सांसद विनोद खन्ना जी की पत्नी कविता खन्ना हो चाहे पठानकोट के पूर्व ट्रांसपोर्ट मंत्री मास्टर मोहन लाल हों ,पूर्व विधयक अश्वनी शर्मा हों चाहे यह महाशय हो बस सब टिकट के लिए अपने अपने हथ कंडे अपना रहे है। pathankot beauty eclipse 

चाहे उनको इसके लिए कुछ भी करना पड़े यहाँ बता दे की नेता जी का पठानकोट में एक मैडिकल कॉलज भी है जिसकी आड़ में उसने वोटरों को लुभाने के लिए पुरे जिले में हर चौराहे में पोस्टर लगा दिए है की हमारे हस्पताल में मरीजों का इलाज बच्चे से लेकर बूढ़ों तक का इलाज मुफ़्त किया जाता है और साथ रहना खाना पीना भी मुफ्त मिलता है लेकिन नेता जी ने यह नहीं सोचा की यह पोस्टर लगाने के लिए एक तो पठानकोट नगर निगम की मंजूरी लेनी होती है। pathankot beauty eclipse 

भाजपा के नेता जी के पोस्टर लगे है

दूसरा यह नहीं सोचा की इससे हमारे शहर पठानकोट की सुंदरता को ग्रहण भी लग रहा है लोगो की माने तो लोगों का कहना है की अगर अब ये नेता जी पोस्टर लगा यह बताना चाहते है की वः समाज सेवा करना चाहते है तो 10 -15 साल पहले व् कहां थे तब उसे समाज सेवा करने की बात ध्यान में नहीं आई उन्होंने कहा की लोग मुर्ख नहीं है जो इन नेताओं के लुभावने वादों में आएगे लोगों ने माना की अगर यह नेता जी टिकट के लिए पोस्टर लगा लोगों को लुभाने वाले सपने दिखा रहा है तो व् गलत बात है व् ऐसा करके अपने पोस्टर लगा शहर की सुन्दरता को धब्बा लगा रहा है। pathankot beauty eclipse 

पठानकोट में आतंकी हलचल तेज़, सेना ने जारी किया अलर्ट

दूसरी और जब नगर निगम के अधिकारी अश्वनी शर्मा से इस सबंधी बात की गई तो उन्होंने कहा की पहली बात यह है की अगर शहर में कहीं किसी को पोस्टर लगाने होते है तो इसकी मंजूरी लेनी पड़ती है उन्होंने कहा की जो इस भाजपा के नेता जी के पोस्टर लगे है उन्हें इस बारे कोई पता नहीं है व् जाँच करेंगे की उसकी और से नगर निगम से मंजूरी ली गई है जा नहीं दूसरा उन्होंने कहा की अगर यह पोस्टर शहर की सुंदरता को ख़राब कर रहे है अथ्वा इनकी मंजूरी नहीं है तो व् इस पर जल्द कार्रवाई करेंगे। pathankot beauty eclipse