पठानकोट के बुजुर्ग प्रीतम सिंह की कहानी जानिए उन्ही की जुबानी




पठानकोट के साथ लगते ब्लाक घरोटा में पड़ते गाँव गडबड़ नाला का एक बजुर्ग अपनी नौकरी की पेंशन लेने के लिए पिछले ढाई साल से दर दर की ठोकरें खा रहा है पर उसे हर बार मायूसी ही हाथ लगी है जानकारी के अनुसार प्रतीम सिंह नाम का बजुर्ग जो की पठानकोट में बिजली विभाग में नौकरी करता था व् वह नवंबर 2014 में रिटायर्ड हुआ था तब से प्रीतम सिंह इस दफ्तर के चक्र काट रहा है पर उसे अभी तक अपनी पैंशन नहीं मिली। pritam singh story 

प्रीतम सिंह की पैंशन लेट हुई है

आज भी जब वह अपनी पैंशन के चक्र में अपने दफ़्तर आया तो उसके हाथ फिर निराशा ही लगी और व् दफ़्तर के साहमने ही मायूस हो कर बैठ गया व् अपने माथे पर हाथ रख अपनी किस्मत को कोषता हुआ नज़र आया। pritam singh story 

बता दे की प्रतिम सिंह दिल की बीमारी से भी पीड़त है और ऊपर से इतनी गर्मी जब मिडिया की और से प्रीतम सिंह से बात की गई तो उन्होंने अपनी आप बीती सुनाते हुए कहा की कैसे उन्हें पिछले ढाई साल से दफ्तर वालों की और से जलील किया जा रहा है। pritam singh story 

जब बिजली विभाग की मंडल सुपरीडेंट सुषमा शर्मा से बात की

प्रतिम सिंह ने बताया की व् जब भी अपनी पेंशन सबंधी अपने दफ्तर पठानकोट आता है तो उसे हर बार यही कहा जाता है की 10 दिन बाद आना 15 दिन बाद आना बस पिछले ढाई साल से उसे मुर्ख ही बनाया जा रहा है प्रतिम सिंह ने सरकार से मांग करते हुए कहा की एक तो उनकी जल्दी जल्दी पैंशन दी जाए और दूसरा इन अफसरों पर बनती कार्रवाई की जाए। pritam singh story 

पठानकोट डिप्टी कमीश्नर दफ्तर के बाहर अकाली भाजपा दल का धरना प्रदर्शन

दूसरी और जब बिजली विभाग की मंडल सुपरीडेंट सुषमा शर्मा से बात की गई तो पहले उन्होंने अपने विभाग की गलती छुपाते हुए कहा की कुछ कागज़ पत्र गलती से कहीं और चले गए थे जिसके कारन प्रीतम सिंह की पैंशन लेट हुई है पर अब सब कुछ ठीक हो गया है व् जल्द ही प्रतिम सिंह को उसकी पैंशन मिलने लगेगी। pritam singh story