उत्तर प्रदेश में विपक्ष को उड़ाने की साज़िश





उत्तर प्रदेश सरकार उस समय सकते में आ गए जब विधानसभा में विस्फोटक पाउडर मिला। सरकार ने सख्त जांच के आदेश दिए हैं। उत्तर प्रदेश सरकार में सुरक्षा को लेकर कड़े इंतजाम किए गए हैं। लेकिन विधानसभा में प्रतिपक्ष नेता के कुर्सी के कुछ ही दूरी पर विस्फोटक पाउडर मिलने से हड़कंप मच गया। मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने इसे काफी गंभीर मामले मानते हुए आनन फानन में उच्च स्तरीय मीटिंग बुलाई और कड़े कदम उठाने को कहा है। दरअसल यह सुरक्षा की बड़ी चूक है। विधानसभा में मिले 60 ग्राम वजन के पाउडर को फरेंसिक लैब भेजा गया जहां स्पष्ट हो गया कि यह विस्फोटक पाउडर है। एफएसएल की रिपोर्ट से यह खुलासा हुआ कि यह संदिग्ध पाउडर पीईटीएन नाम का विस्फोटक है। मामले की गंभीरता देखते हुए सरकार ने तेजी से कदम उठाए हैं और इसके लिए उच्च स्तरीय सुरक्षा अधिकारियों को फटकारा भी है। गौरतलब है कि केंद्र में भाजपा के शासन काल में ही संसद में आतंकवादियों ने हमले किए थे जिसमें कई सुरक्षा कर्मचारियों की मौत हो गई थी। उस समय आतंकवादियों को मार गिराने में देश के जवान सफल हुए थे लेकिन विधानसभा के अंदर इस प्रकार से विस्फोटक पहुंचना हतप्रत कर देने वाली घटना है। uttar pradesh assembly case

यूपी का आतंकी कश्मीर से पकड़ा गया






उत्तर प्रदेश में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था मुख्यमंत्री सहित अन्य नेताओं की है। ऐसे में प्रतिपक्ष नेता के कुर्सी के पास इतने मात्र में विस्फोटक पाउडर प्राप्त होना सुरक्षा की बड़ी चूक है। और निश्चिततौर पर सुरक्षा एजेंसियां कठघरे में है। क्योंकि ऐसे स्थानों में बिना सुरक्षा जांच के कोई अंदर नहीं जा सकता है। और ऐसे समय में जब देश भर में आतंकवादियों के हमले की आशंका है। तब ऐसी चूक से सरकार की नींद हराम हो गई है। सरकार निश्चिततौर पर सुरक्षा के लिए और कड़े नियम लागू करेगी। क्योंकि ऐसी चूक से कभी भी बड़ी दुर्घटना हो सकती है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सुरक्षा एजेंसियों को खास निर्देश जारी किए हैं कि इस तरह की चूक बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। सुरक्षा एजेंसियां अपने कार्य में मुस्तैद रहें। up assembly case 

loading…


जानिए चिकनगुनिया से बचने के आसान घरेलू नुस्खा