आप सतेन्द्र जैन के मामले में राजनीतिक शिकार कार्ड खेलना बंद करें




आप सतेन्द्र जैन के मामले में राजनीतिक शिकार कार्ड खेलना बंद करें और समझें कि 2011-13 के बीच जब छापे पड़े, जांच हुई उस दौरान न तो भाजपा सत्ता में थी और न सतेन्द्र जैन कोई नेता थे। aap mla satyendra jain done hawala scam 

दिल्ली भाजपा अध्यक्ष श्री सतीश उपाध्याय ने मांग की है कि आज मीडिया के एक वर्ग (आज तक) द्वारा दिखाई रिपोर्ट के बाद मुख्यमंत्री अविलम्ब हवाला कारोबार में लिप्त रहे अपने मंत्री सतेन्द्र जैन को बर्खास्त करें। aap mla satyendra jain done hawala scam 

श्री उपाध्याय ने कहा है कि आज के मीडिया रहस्योद्घाटन से यह स्पष्ट हो गया है कि प्रारम्भिक छापे 2011 में पड़े और उनकी विस्तृत जांच के बाद जून, 2013 के आसपास आय कर विभाग आयुक्त ने रिपोर्ट दाखिल कर दी थी। aap mla satyendra jain done hawala scam 

सतेन्द्र जैन के हवाला कारोबार में भागीदारी के प्रत्यक्ष प्रमाण हैं aap mla satyendra jain done hawala scam

इस रिपोर्ट के अनुसार सतेन्द्र जैन की तीन कम्पनियां इंडो मेटेलिक, अकिम चन्द एवं प्रयास कोलकाता के जेनेन्द्र मिश्र के साथ हवाला कारोबार करती थीं। उसी दौराना 2013 में चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे सतेन्द्र जैन ने तो इन कम्पनियों के निदेशक पद से इस्तीफा दे दिया पर उनकी पत्नी और पिता आज भी विवादित कम्पनियों से जुड़े हैं। aap mla satyendra jain done hawala scam 

रावण रूपी केजरीवाल का पुतला दहन किया जाएगा !

श्री उपाध्याय ने कहा है कि आम आदमी पार्टी के जो नेता राजनीतिक शिकार होने की बात कह रहे हैं कि जब 2011 में प्रारम्भिक छापे पड़े या 2013 में रिपोर्ट आय कर विभाग में दाखिल हुई या फिर सतेन्द्र जैन ने कम्पनियों से इस्तीफे दिये। aap mla satyendra jain done hawala scam 

2011-2013 की इस अवधि के बीच न तो भाजपा सत्ता में और न ही सतेन्द्र जैन कोई राजनीतिक पहचान के व्यक्ति, वह उस समय साधारण व्यापारी थे। अतः यह निश्चित है कि जांच निष्पक्ष एवं कानून सम्मत थी और सतेन्द्र जैन के हवाला कारोबार में भागीदारी के प्रत्यक्ष प्रमाण हैं। aap mla satyendra jain done hawala scam 

(प्रवीण शंकर कपूर)