2019 से मंदिरों में भी आरक्षण लागु करवाऊंगा ताकि दूसरा मोदी और योगी पैदा न हो : लालू यादव




मंडल कमीशन से अपनी राजनीति चमकाने वाले लालू यादव ने अब चारों पीठों में आरक्षण लागू करने की मांग की है। जिससे कि अन्य पिछड़े वर्ग में अपनी मजबूती बनाए रखे। राजद सुप्रीमो व बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव ने कहा है कि आखिर देश के चारों पीठों में एक ही जाति का वर्चस्व क्यों है। aarkshan jari rahega 

आरक्षण

शंकराचार्य की नियुक्ति में हमेशा एक ही जाति का वर्चस्व क्यों रहना चाहिए। क्यों नहीं यहां आरक्षण होना चाहिए। देश के चारों पीठों में शंकराचार्य की नियुक्ति में भी आरक्षण लागू किया जाना चाहिए। गौरतलब है कि देश में चार मठ हैं ज्योतिर्मठ जोशी मठ में, गोवर्धन मठ पुरी में, श्रृंगेरी मठ श्रृंगेरी में और द्वारिका मठ द्वारिका में। aarkshan jari rahega 

बिहार में राजद और जदयू गठबंधन की सरकार है

दरअसल लालू प्रसाद यादव आरक्षण मुद्दे उछालकर अपनी राजनीति करते हैं जिससे की उनकी अन्य पिछड़े वर्ग में पकड़ मजबूत रहे। अब जबकि आरक्षण मुद्दा से दब सा गया है लेकिन इन्हें राजनीति करने के लिए इसे जगाए रखने की जरूरत है और इसी कारण से अब मंदिरों और मठों में आरक्षण की मांग कर डाली है। aarkshan jari rahega 

उत्तर प्रदेश में अभी योगी आदित्यनाथ भी मठ से हैं। तो इन्हें भय है कि कहीं बिहार की कुछ ऐसा न कर जाए भाजपा। बिहार में राजद और जदयू गठबंधन की सरकार है और लालू यादव की अन्य पिछड़ों में पकड़ अब ढिली पड़ गई है जिसपर नीतीश कुमार बहुत तेजी के साथ अपनी पकड़ बनाए हैं। लालू यादव को पता है कि अगर उनकी पकड़ कमजोर हुई तो तय है कि उनका जनाधार एक बार फिर गिर जाएगा। aarkshan jari rahega 

पीएम मोदी जी मुस्लिमों को तंग करना छोड़ दो नहीं तो देश को दो भाग में बाँट दूंगा: लालू यादव

लालू यादव इसके पहले भी ऐसे आरक्षण और स्वर्ण जातियों के विरुद्ध बयान देकर अपनी राजनीति चमकाते रहे हैं जिसमें उन्होंने भूरा बाल काटो तक कहा। आरक्षण का मुद्दा लालू यादव ने बिहार विधानसभा चुनाव के वक्त भी खूब उछाला जिसमें मोहन भागवत के बयान को तोड़ मरोड़ कर पेश करते रहे। aarkshan jari rahega