ऐसिड अटैक की पीड़िता के सामने ली सेल्फी, महिला कॉन्स्टेबल सस्पेंड




ट्रैन में एसिड अटैक के पीड़ित महिला के देखरेख में ड्यूटी पर तैनात तीन महिला कांस्टेबल को पीड़ित के सामने सेल्फी लेने के कारण ससपेंड कर दिया गया है। उत्तर प्रदेश में एक बार फिर दिल दहला देने वाली घटना घटी और इस घटना की शिकार एक मासूम महिला हुई। वाकया देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश की है। जंहा मानवता नाम का शब्द शायद मिट गया है। बात गुरूवार की है जब रेली के ऊंचाहार से लखनऊ के लिए पैसेंजर ट्रैन जा रही थी। उस वक्त कुछ असमाजिक तत्व के लोगों ने महिला के साथ जोर-जबरदस्ती की, उसे जबरन एसिड पिलाया। acid attack victim women constable suspend 

लोगों पर विक्टिम से रेप का आरोप लगा

माना जाता है कि ये पीड़ित महिला अपने पूरे परिवार के साथ कही जा रही थी। जानकारी के मुताबिक, जब रायबरेली पैसेंजर ट्रेन गुरुवार दोपहर मोहनलालगंज स्टेशन पहुंची तो ट्रैन में कुछ असमाजिक लोग चढे और कुछ देर गाड़ी चलने पर वह आदमी उस पीड़ित महिला के साथ जोर जबरदस्ती करने लगा और उस महिला को तेजाब पिलाने की कोशिश की गई। जिस पर वह महिला चीख़ी चिल्लाई और इनकार करने लगी। और ट्रैन मे लोंगो से मदद मागने लगी लेकिन किसी यात्री ने महिला की कोई मदद नहीं की। acid attack victim women constable suspend 

इस घटना के घटते ही ट्रैन मे अफरातफरी मच गई। माना जाता है की। वही प्रशासन और यूपी सरकार ने एक तगड़ा कदम उठाया और साथ इस घटना को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ ने एडीजी रेलवे गोपाल गुप्ता को अलर्ट किया ।

ISIS ने सीएम योगी आदित्यनाथ को दी जान से मारने की धमकी !

इस घटना के बाद पीड़ित महिला का हालात बहुत नाज़ुक हो गयी। स्टेशन आने पर विक्टिम को उतारा गया और वहां से एक निजी वाहन से उसे ट्रॉमा सेंटर पहुंचाया गया। जहां डॉक्टरों ने उसकी स्थिति गंभीर बताते हुए उसे भर्ती कर लिया। पीड़िता का इलाज़ चल रहा है। acid attack victim women constable suspend 

पीड़ित महिला के पति ने कहा कि हमें पहले से ही धमकियां मिल रही थी। ये धमकी बीते चुनाव की हार की रंजिश माना जा रहा है। रेप विक्टिम रायबरेली जिले के ऊंचाहार थाना एरिया के तवाईयाधनी गांव की रहने वाली है। एक साल पहले एनटीपीसी के अॉफिशियल गजानन सहित 5 लोगों पर विक्टिम से रेप का आरोप लगा था। आरोपियों ने बाद में उसके पति को धमकाया भी था।तथा उसने पुलिस में जाके एफआईआर दर्ज कराई थी। प्रशासन ने मामले को गम्भीरता से नही लिया था बाद में पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की । acid attack victim women constable suspend 

( विकास झा )