मोदी सरकार का एक ही काम, कांग्रेस को करो परेशान : राहुल गांधी agusta-westland-scam-and-congress





नई दिल्ली, प्रवीण कुमार
अगस्ता वेस्टलैंड स्कैम मामले में कांग्रेस पार्टी के बड़े नेताओं के नाम सार्वजानिक होने से कांग्रेस पार्टी सकते में है। इस संदर्भ में पार्टी के कई वरिष्ठ नेताओं ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए भारतीय सविंधान को अपने हाथ में ले लिया। कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी ने कहा कि मैं किसी से नहीं डरती हूँ, जिसको जो करना है। कर लें। वही कांग्रेस प्रवक्ता आनंद शर्मा ने कई बार सफाई दी है कि कांग्रेस पार्टी का अगस्ता वेस्टलैंड मामले में कोई हाथ नहीं है। उन्होंने कहा कि सत्ताधारी पार्टी ब्लैकमेल कर कांग्रेस पार्टी की छवि को धूमिल करने पर जुटी है। agusta-westland-scam-and-congress

आपको बता दें कि अगस्ता वेस्टलैंड स्कैम कांग्रेस की सरकार के समय हुई थी और इटली कोर्ट ने इस संदर्भ में पत्राचार के जरिये  वर्तमान भारत सरकार को सूचित किया है कि यूपीए सरकार के समय वीवीआईपी चॉपर के खरीददारी में घोटाले बाजी हुई थी और यूपीए सरकार ने इटली सरकार के साथ सहयोग नहीं किया । इटली कोर्ट का कहना है कि यूपीए सरकार ने हमें चॉपर डील के कुछ दस्तावेज ही जारी किया था। जबकि मुख्य दस्तावेज देने से यूपीए सरकार परहेज कर रही थी। जिस कारण इटली को चॉपर डील घोटाले की सुनवाई करने में असुविधा हुई। agusta-westland-scam-and-congress

वही चॉपर डील के मुख्य आरोपी ब्रिटेन के नागरिक मिशेल का कहना है कि इस घोटाले में कांग्रेस पार्टी के कुछ लोग शामिल थे। हालांकि, मिशेल ने इन नेताओं का नाम नहीं बताया लेकिन मिशेल का कहना है कि उनके इशारों पर भारतीय रक्षा विभाग ने इस डील में घोटाले बाजी की। agusta-westland-scam-and-congress
कांग्रेस अब पूरी तरह से अगस्ता वेस्टलैंड डील मामले में फंस चुकी है और बचने का कोई उपाय ना देख कांग्रेस पार्टी अपने दिए गए बयान से पलट रही है। जबकि मामले की सुनवाई अभी कोर्ट और सीबीआई के अधीन चल रही है। कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता आनंद शर्मा का कहना है कि मोदी सरकार का एक अतिरक्त विभाग है। जिसका नाम डर्टी ट्रिक विभाग है। जो केवल डर्टी काम करती है। इस विभाग का मुख्य काम कांग्रेस पार्टी के नेताओं का फोन टेप करना है। यह विभाग ओवरटाइम करती है। आनंद शर्मा ने कहा कि बीजेपी कांग्रेस को ब्लैकमेल करना छोड़े। agusta-westland-scam-and-congress

 वैसे कांग्रेस पार्टी जाँच से क्यों घबरा रही है। विचारणीय तथ्य है कि सत्ताधारी धारी पार्टी लॉ एंड आर्डर के तहत अगस्ता वेस्टलैंड स्कैम की जाँच करवा रही है और दूसरी ओर कांग्रेस इस पुरे घटनाक्रम को बीजेपी से जोर रही है। कांग्रेस पार्टी के लिए घोटाले में नाम आना कोई बड़ी बात नहीं है। कांग्रेस के आलाकमान पर दर्जनों घोटाले संबंधी केस अदालत में लंबित है। ऐसे में अगस्ता वेस्टलैंड स्कैम भी कांग्रेस पार्टी के लिए मामूली घोटाला दिखता है। मोदी सरकार का एक ही काम, कांग्रेस को करो परेशान : राहुल गांधी agusta-westland-scam-and-congress