अमेरिका और भारत ने हिन्द महासागर को बनाया अखाडा



अमेरिका के मोदी प्रेम अपने परवान पर है। इस रिश्ते में दिन व दिन मजबूती आती जा रही है। पहले मोदी का अमेरिका आने का आमंत्रण, फिर एनएसजी में भारत को सदस्य्ता दिलाने के लिए पुरजोर समर्थन किया। america made indian ocean arena 

हालांकि, चीन के विरोध के कारण भले ही भारत एनएसजी का सदस्य नहीं बन पाया है। फिर भी भारत-अमेरिका का सम्बन्ध अब भी परवान है। इस रिश्ते में और मजबूती लाने के लिए दोनों देश ने एक बड़े व्यापर सौदे पर हस्ताक्षर किया है।

आपको बता दें कि पीएम मोदी ने तक़रीबन 67.18 अरब रूपये की लागत से 4 लम्बी दुरी की निगरानी और पनडुब्बी रोधी युद्धक विमान पंसईडन 8I की खरीदारी को मंजूरी दे दी है। इससे भारत की रक्षा पंक्ति और मजबूत हो जाएगी।

अमेरिका ने चीन को धमकाया कहा भारत को NSG में देंगे एंट्री

रक्षा मंत्रालय ने कहा है कि पीएम मोदी की मंजूरी के पश्चात जल्द ही इसकी प्रक्रिया तेज हो जाएगी। अगले कुछ दिनों में कॉन्ट्रैक्ट पर मंजूरी मिल जाएगी। जबकि तीन साल के अंदर ही नेवी को पंसईडन 8I डिलीवरी कर दिया जाएगा।

इससे पहले भी भारत सरकार ने2013-15 पंसईडन 8I को 2.1 अरब डॉलर्स में ख़रीदा था जो आज देश की सेवा में समर्पित है। फिलहाल भारत के पास इस तरह के आठ पंसईडन 8I है। इस सौदे के साथ ही भारत के पास कुल एक दर्जन पंसईडन 8I हो जायेंगे। america made indian ocean arena 

अमेरिका की कोशिश है कि किसी तरह भारत की गतिविधि हिन्द महासागर में बढ़ाया जाए। इसके लिए अमेरिका भारत के रक्षा पंक्ति को मजबूत हेतु इस डील को मंजूरी दी है।

चीन को हिन्द महासागर में मुंहतोड़ जबाब देना है america made indian ocean arena

जैसा कि ज्ञात है कि हाल के दिनों में चीन की गतिविधि बढ़ गई है। जिससे भारत सहित एशिया में गहमागहमी है। इस सौदे से न केवल चीन और पाकिस्तान बल्कि एशिया प्रान्त के अन्य देश भी चिंतित है। तत्काल किसी देश ने इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं की है। लेकिन खबर फैलते ही चीन की सर दर्दी बढ़ जाएगी। america made indian ocean arena 

अमेरिका ने अब तक चीन को एनएसजी विरोध के लिए कई मुंहतोड़ जबाब दिया है। पहले एमटीसीआर में भारत को सदस्य्ता दिलाया। उसके बाद चीन को खुले तौर पर धमकाया कि अमेरिका के कार्यविधि का विरोध न करें।

अब अमेरिका ने एनएसजी का बदला लेने के लिए हिन्द महासागर को अखाडा बना दिया है। अमेरिका चाहता है कि भारत की रक्षा पंक्ति मजबूत कर चीन को हिन्द महासागर में मुंहतोड़ जबाब देना है। इस क्रम में अमेरिका और भारत कुछ हद सफल भी हुए है। america made indian ocean arena