खुदा की कसम खाकर कहता हूँ मैंने अयूब खान को नहीं मरवाया है : मीरवाइज़




रमजान का महिना चल रहा है। ईद का अब सबको इंतजार है। ऐसे महीने में जम्मू कश्मीर में शर्मसार करने वाली घटना सामने आई हैं जिसमें डीएसपी की पीट पीट कर मार डाला गया।जम्मू कश्मीर के नोहट्टा में प्रदेश पुलिस के एक डीएसपी मोहम्मद अयूब पंडित को शरारती तत्वों ने मस्जिद के बाहर पीट पीटकर मार डाला। ayub khan murder case

ऐसे वक्त में डीएसपी की हत्या हो जाती है

डीएसपी ने जान बचाने के लिए गोली भी चलाई। उन्हें बचाने के लिए सुरक्षाकर्मियों ने लाठियां भी भांजी लेकिन वे नाकाम रहे। जिस प्रकार से की यह घटना हुई यह पूरी तरह से शर्मनाक है। बीती रात शब ए कद्र थी। इस मौके पर स्थानीय मस्जिदों, खानकाहों और दरगाहों में लोग नमाज इबादत के लिए इकट्ठा हुए थे। ayub khan murder case

ऐसे में इस तरह की घटना शर्मसार करती है। जहां इस शक पर हत्या की जाती है कि कोई यह व्यक्ति खुफिया एंजेंसी का आदमी है। अलगाववादी नेता किसी भी तरह से दहशत फैलाना चाहते हैं। लोगों को इसके लिए बहकाते हैं। इसी बहकावे में युवा आ जाते हैं। जिसका परिणाम इस तरह का निकलता है। ayub khan murder case 

इनकी हत्या के पीछे अलगाववादियों का हाथ था

जहां पुलिस अपना काम बड़े सब्र तरीके से कर रही है। लेकिन ऐसी घटनाएं हो जाती है। प्रदेश की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने इस घटना को शर्मनाक बताया है और कहा है कि हमारी पुलिस देस में सबसे अच्छी है लेकिन वे संयम का परिचय इसलिए देते हैं क्योंकि उन्हें लगता है कि अपने ही लोगों को डील कर रहे हैं। ayub khan murder case 

गौरतलब है कि जम्मू कश्मीर में पहले भी उमर फयाज की हत्या हुई थी जिसको लेकर काफी हंगामी हुआ। इनकी हत्या के पीछे अलगाववादियों का हाथ था। जब अयुब पंडित की शरारती तत्वों से मस्जिद के बाहर नोंक झोंक हो रही थी। aनीतीश कुमार की दोहरी राजनीति से सोनिया और लालू की बोलती बंद
yub khan murder case 

नीतीश कुमार की दोहरी राजनीति से सोनिया और लालू की बोलती बंद

वहीं अंदर में उदारवादी हुर्रियत कांफ्रेंस के प्रमुख मीरवाईज मौलवी उमर फारुक लोगों को इस्लाम का पाठ पढ़ाते हुए अमन दयानतदारी और भाईचारे की सीख दे रहे थे। ऐसे वक्त में डीएसपी की हत्या हो जाती है जिसके लिए उन्हें विचार करना पड़ेगा कि वे क्या सीख दे रहे हैं। ayub khan murder case