मुसलमानों के कारण गंदगी, आतंक और प्रदूषण फैलता है : आईसीएसई




ध्वनी प्रदूषण को लेकर जिस तरह से आज लगातार अभिनेता मस्जिद को टारगेट कर रहे हैं उसमें अब विद्या का मंदिर में भी इस तरह की बातें बताई जा रही है। आईसीएसई बोर्ड की एक किताब इसी कारण से विवादों में आ गई है। जिसमें प्रदूषण के कारणों में मस्जिद से दिए जा रहे अजान को बताया गया है। यह पुस्तक छठीं कक्षा में पढ़ाई जा रही है।  azan spreading noise pollution 

azan spreading noise pollution सोनू निगम पर कई कठमुल्लाओं ने हमले किए

पुस्तक में यह कहा गया है कि ध्वनि प्रदूषण के ये सोर्स हैं जिसमें कई सोर्स दिखाए गए हैं जिसमें ट्रेन, कार, प्लेन आदि हैं, उसमें एक मस्जिद को भी सोर्स बताया गया है। जिसमें एक तस्वीर भी छपी है जो ध्वनि प्रदूषण से परेशान होकर अपनी कान को दबाए हुए हैं और उत्तेजित हो रहा है। azan spreading noise pollution 

छठीं कक्षा की पुस्तक यह तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद प्रकाशक ने फोटो को अगले संस्करण से हटाने की बात कही है। इस पुस्तक के प्रकाशक सेलिना पब्लिशर्स हैं। गौरतलब है कि आईसीएसई बोर्ड केंद्र सरकार द्वारा संचालित है। आईसीएसई की तरफ से अभी तक कोई बयान नहीं दिया गया है। azan spreading noise pollution 




लाउडस्पीकर का अविष्कार

गौरतलब है कि पिछले दिनों प्रसिद्ध गायक सोनू निगम ने भी मस्जिद में सुबह सुबह दिए जा रहे अजान पर कहा था कि उनकी नींद इससे खराब होती है। क्या इसकी इजाजत मोहम्मद साहब ने दी थी। क्या उस समय लाउडस्पीकर का अविष्कार हुआ था। उसके बाद सोनू निगम पर कई कठमुल्लाओं ने हमले किए और इनके बाल काटने और जूता पहनाने पर इनाम तक की घोषणा कर दी थी। azan spreading noise pollution 

कांग्रेस पार्टी चोरों और डकैतों की पार्टी है जिसने देश को 60 साल तक लूटा है : नितीश कुमार

हालांकि सोनू निगम ने खुद ही अपने बाल कटवा कर उनको जवाब दिया। सोनू निगम के समर्थन में कई प्रतिष्ठित लोग भी आगे आए। उसके बाद अब पुस्तक में ऐसी बातें सामने आने से मुद्दा गरमा गया है ऐसा माना जा रहा है कि जानबूझकर ऐसा किया गया है। azan spreading noise pollution 

loading…