मन्नान: आजादी मागने वाले छात्रों के बैकग्राउंड खंगाल रही पुलिस



कश्मीर में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेंड में मारे गये आतंकी बुरहान वानी के समर्थन में आजादी के नारे लगाने और उसके लिए नमाज-ए-जनाजा अदा करने के मामले ने काफी तूल पकड़ लिया है. इस मामले को लेकर सख्त यूपी पुलिस ने जम्मू कश्मीर पुलिस से इस घटना में शामिल 9 कश्मीरी छात्रों की सारी डीटेल मांगी है. साथी इसकी जांच के लिए पुलिस ने एक एसआईटी का गठन किया है जो इस मामले की तह तक जायेगी. background investigating police

2 छात्रों पर दर्ज हुई एफआईआर background investigating police

पुलिस अब यह जानने की कोशिश कर रही है कि कहीं इस घटना के आरोपी छात्रों या उनके परिवार का कोई आपराधिक रिकार्ड तो नहीं है. इस मामले में अलीगढ़ के एसएसपी अजय कुमार साहनी ने शक जताया है कि आतंकी मन्नान के लिए शोक सभा करने वाले इन छात्रों का आपराधिक रिकॉर्ड हो सकता है. ऐसे में एसआईटी इनके बैकग्राउंड के बारे में जानने की कोशिश कर रही है. background investigating police

1200 छात्रों ने दी एएमयू छोड़ने की धमकी background investigating police

केंद्र सरकार भी सख्त अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में छात्रों द्वारा आतंकी वानी के लिए शोक सभा और आजादी के नारे लगाने को लेकर सख्त केंद्र सरकार ने बेहद सख्त रवैया अपनाया है. केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने इस मामले में अलीगढ मुस्लिम विश्वविद्यालय प्रशासन से रिपोर्ट तलब किया है. जिसको लेकर विश्विद्यालय के रजिस्ट्रार अब्दुल हामिद ने कहा है कि हमारी तरफ से मानव संसाधन विकास मंत्रालय को रिपोर्ट भेज दी गई है. background investigating police

इस मामले में यूपी पुलिस ने शोक सभाएं करने वाले नौ छात्रों पर एक्शन लेते हुए दो छात्रों वसीम अयूब मलिक और अब्दुल हफीज के खिलाफ एफआईआर दर्ज किया है. इसी के साथ एएमयू ने भी इन दोनों छात्रों को सस्पेंड कर दिया है. इसके अलावा मोहम्मद सुलतान खान, रकीब सुलतान, दानिश पीरजादा, सुम्मी उल्ला राठर, एयाज अहमद और पीरजादा महबुबूल को नोटिस जारी कर 48 घंटे के इंदर जबाव माँगा है. गौरतलब है कि इस सभी पर सोशल मीडिया के जरिये मन्नान वानी के समर्थन में नारे लगाने का आरोप है. background investigating police

सबको कमाई, सबको पढ़ाई, सबको दवाई देना हमारा मुख्य लक्ष्य है : पीएम मोदी

मन्नान वानी की याद में शोकसभा करने वाले छात्रों पर यूपी पुलिस की कार्रवाई से नाराज विश्विद्यालय के 1200 छात्रों ने अब उत्तरप्रदेश प्रशासन के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए धमकी दी है कि अगर सभी आरोपी छात्रों के मामले को ख़त्म नहीं दिया जाता है तो सभी छात्र विश्वविद्यालय छोड़ देंगे. background investigating police

बालों का झड़ना,डैंड्रफ,दोमुंहे और रूखे बालों का जबरदस्त नुस्खा




This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.