बलूच और सिंध में मोदी के बढ़ते प्रभाव से पाकिस्तान और चीन घबराया




15 अगस्त को पीएम मोदी ने लाल किले की प्राचीर से जन सम्बोधन में कहा कि मैं बलूच, गिलगित और पाक अधिकृत कश्मीर के लोगों को धन्यवाद करना चाहता हूँ क्योंकि ये जिस धरती के लोग है उन्हें मैंने कभी देखा नहीं है। उनलोगों में मेरे प्रति सम्मान का जो भाव है वो सरहनीय है और मैं इसके लिए बलूच और गिलगित के लोगों का धन्यवाद देता हूँ। baloch wants freedom 

पीएम मोदी के इस बयान से पाकिस्तान का सिहासन हिल उठा, मानो पाकिस्तान में सैलाब आ गया है। पीएम मोदी के इस बयान के बाद पाकिस्तान अब विश्व समुदाय के समक्ष गिड़गिड़ाता हुआ नजर आ रहा है। सूत्रों से पता चला है की इस सम्बन्ध में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री चुपके से अमेरिका जा पहुंचे है और वँहा संयुक्त राष्ट्र संघ में मदद की गुहार लगा रहे है। baloch wants freedom 

कश्मीर की समस्या का हल मोदी जी ही करा सकते है : महबूबा मुफ़्ती

पीएम मोदी के बयान के बाद बलूच की आजादी को लेकर आंदोलन तेज हो गया है कल ही बलूच की आजादी के लिए विश्व के सभी प्रमुख देशों में पाकिस्तान सरकार का विरोध प्रदर्शन किया गया। ये आंदोलनकारी बलूच की आजादी की मांग कर रहे है। baloch wants freedom 

वही पाकिस्तान के पूर्व उच्चायुक्त हक्कानी ने कहा की यदि पाकिस्तान सरकार बलूच के लोगों की मांगो को पूरा करने में असफल रहती है तो बलूच में हिंसा फ़ैल सकती है। इसके लिए सरकार को बलूच के राजनितिक पार्टियों से बात करने की जरूरत है। baloch wants freedom 

बलूच के दिवंगत नेता ब्रह्मदाग मुफ़्ती अकबर के वर्षी पर पहुंचे हक्कानी ने कहा की पाकिस्तान सरकार को यथाशीघ्रः बलूच के राजनेताओं से बात करनी चाहिए। जबकि पाकिस्तान सकरार बलूच की मांगों को मानने को तैयार नहीं है। baloch wants freedom 


पाकिस्तान और चीन पीएम मोदी के यु टर्न से हैरान और परेशान है baloch wants freedom 

पीएम मोदी की कूटनीति चाल से न केवल पाकिस्तान घबराया है बल्कि इससे चीन भी डरा हुआ है। चीन ने करीबन 600 करोड़ का निवेश बलूचिस्तान में कर रखा है। यदि बलूच में हिंसा या आंदोलन की घटना होती है तो चीन का खड़ा किया सारा एम्पायर नष्ट हो जाएगा। जिससे चीन को काफी नुकसान हो सकता है। baloch wants freedom 

हालांकि, चीन ने जो निवेश बलूचिस्तान में किया है वो केवल भारत पर दबाब बनाने के लिए किया है लेकिन कहते है न जो दूसरों के लिए गढ्ढा खोदता है वो खुद उस गढ्ढे में गिर जाता है। कुछ ऐसा ही चीन के साथ आने वाले दिनों में होने वाला है। baloch wants freedom 

मोदी लहर अब बलूच, गिलगित, सिंध और पाक अधिकृत कश्मीर में जमके बह रही है। आग में घी डालने का काम मोदी सरकार ने पुनः की है कल ही मोदी सरकार ने बलूच, गिलगित और पाक अधिकृत कश्मीर के विस्थापितों के लिए 20 अरब डॉलर्स की घोषणा की है। जिससे बलूच, सिंध और पाक अधिकृत कश्मीर में पाकिस्तान विरोधी आंदलोन और सक्रिय हो सकता है। पाकिस्तान और चीन पीएम मोदी के यु टर्न से हैरान और परेशान है।  baloch wants freedom 
( प्रवीण कुमार)