कश्मीर को स्वर्ग बनाने के लिए बलूचिस्तान की आजादी जरुरी है : सुब्रमण्यन स्वामी




पाकिस्तान लगातार भारत के विरुद्ध आंतकवादी कार्रवाई को बढ़ावा देता रहा है। अब समय आ गया है कि पाकिस्तान को उसी के भाषा में जवाब दिया जाए।भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा है कि जिस प्रकार से पाकिस्तान आतंकवादी गतिविधियों को बढ़ावा दे रहा है ऐसे में उसे उसी के घर में सेंध लगाकर ही सबक सिखाया जा सकता है। जिस प्रकार से पाकिस्तान ब्लूचिस्तान में कार्रवाई कर रहा है इसके लिए उसे बेनकाब करने की जरूरत है। Baluchistan freedom movement 

ब्लूचिस्तान के लोगों में नाराजगी दशकों पुरानी है

स्वामी ने कहा है कि अगर ब्लूचिस्तान, पख्तूनिस्तान और सिंध में विभाजित कर दिया जाए तो पाकिस्तान को आतंकवाद को बढ़ावा देने की सीख मिल जाएगा। जम्मू कश्मीर में जिस प्रकार से खुलकर पाकिस्तान आतंकवाद को बढ़ावा दे रहा है उसके लिए भारत को चाहिए कि ब्लूचिस्तान को अलग देश के रूप में मान्यता दिला दें। Baluchistan freedom movement 

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जब इस मुद्दे को 70 वें स्वतंत्रता दिवस पर उठाया था कि ब्लूचिस्तान के लोगों के लिए किए गए सद्भावना के धन्यवाद कहा है। उसके बाद ही विश्व भर में इसे सामने लाया गया। गौरतलब है कि ब्लूचिस्तान के लोग लगातार अपने हक के लिए लड़ाई लड़ रहे हैं जिसे पाकिस्तान लगातार दबा रहा है। Baluchistan freedom movement 

पाकिस्तान के खिलाफ भावनाएं भड़क रही हैं

ब्लूचिस्तान प्राकृतिक संसाधनों से मालामाल है, ब्लूचिस्तान में यूरेनियम, पेट्रोल, प्राकृतिक गैस, तांबा और कई अन्य धातुओं का भंडार है। जिसका उपयोग पाकिस्तान कर रहा है और वहां के लोगों पर दमनकारी नीति लगातार जारी है। पाकिस्तान सेना ब्लूचिस्तान में अपहरण, उत्पीड़न और हत्याएं कर रही है। जिसके कारण वहां पाकिस्तान के खिलाफ भावनाएं भड़क रही हैं। Baluchistan freedom movement 

शरीफ और मोदी कुछ भी कर ले जाधव को फांसी तो होकर रहेगी : इमरान खान

ब्लूचिस्तान के लोगों में नाराजगी दशकों पुरानी है जब कट्टरपंथियों ने 2006 में पाकिस्तानी सेना ने बलोच कबायली नेता नवाब अकबर बुगती को मार दिया था। जम्मू कश्मीर के मुद्दे को जिस प्रकार से पाकिस्तान यूएनओ में उठाता रहा उसे भी ब्लूचिस्तान मुद्दे पर घेर कर जवाब देने की जरूरत है। जिसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने साफ तौर पर कदम उठाए हैं जिसकी प्रशंसा ब्लूचिस्तानियों ने की।Baluchistan freedom movement