हिंदुस्तान आरएसएस के बाप की नहीं है बल्कि मेरे पूर्वजों की है : शेहला रशीद




जेएनयू छात्र संघ की पूर्व कार्यकर्ता और छात्रा शेहला रशीद ने बंगलुरु में डॉक्टर द्वारा जबरन मुस्लिम महिला मरीज से कृष्णा कृष्णा बोलने को लेकर कड़ी आलोचना की है। शेहला रशीद ने कहा कि हिंदुस्तान किसी के बाप की नहीं बल्कि मेरे पूर्वजों की है। उन्होंने कहा कि जिस तरह से बंगलुरु में डॉक्टर ने मुस्लिम महिला के साथ धर्म को लेकर दुर्व्यवहार किया है। उससे पूरा मुस्लिम समाज आहत है। भारत एक धर्मनिरपेक्ष देश है जंहा विभन्नता में एकता है। इसका अर्थ ये नहीं है कि जबरन धर्म थोपा जाए। इससे देश में नफरत फ़ैल रहा है। दो समाज एक दूसरे के दुश्मन बनते जा रहे है। bangalore hospital intolerance truth

डॉक्टर हिन्दू है इसलिए वे कृष्ण कृष्ण जपने को कहा है।

शेहला रशीद ने आगे कहा कि मोदी सरकार में मुस्लिमों के साथ भेदभाव किया जा रहा है। एक सरकार से ऐसी उम्मीद तो बिलकुल नहीं थी। जंहा मुस्लिमों का सरेआम क़त्ल किया जा रहा है। वही सरकार मूक दर्शक बनी है। ये न केवल हिंदुत्व को बढ़ावा दे रहे है बल्कि दंगे फ़ैलाने की भी कोशिश कर रहे है। बंगलुरु हॉस्पिटल में जिस तरह से मुस्लिम महिला को कृष्ण कृष्ण कहने के लिए विवश किया गया। उससे साफ़ जाहिर है कि देश में हिन्दुओं का मनोबल बढ़ रहा है। यदि समय रहते सरकार इस पर अंकुश नहीं लगाती है तो आने वाले दिनों में स्थिति भयावह हो जाएगी। bangalore hospital intolerance truth

बता दें बंगलुरु की एक मुस्लिम महिला ने हॉस्पिटल के डॉक्टर पर आरोप लगाया था कि उसे डॉक्टर ने जबरन कृष्ण कृष्ण जपने को कहा था। यदि वो कृष्ण कृष्ण नहीं करती तो डॉक्टर उसकी सर्जरी नहीं करेगा। इस बारे में हॉस्पिटल प्रशासन का कहना है कि सर्जरी के दौरान मरीज नर्वस और डरी थी। इसलिए डॉक्टर्स ने उसे अपने गॉड को याद करने को कहा ताकि वो सर्जरी को फेस कर सके। bangalore hospital intolerance truth

बिग बी बिटकॉइन से बने अरबपति

वही पुलिस ने भी साफ़ किया है कि डॉक्टर्स प्रोफेशनल है। इसके अलावा महिला जिस डॉक्टर पर आरोप लगा रही है। उनकी छवि हॉस्पिटल में साफ़ सुथरी है। ऐसे में उनके ऊपर कारवाई करने से पहले हम मामले की गंभीरता से जांच करेंगे। वैसे प्रारंभिक जांच से पता चला है कि महिला के बेहोशी के दौरान डॉक्टर ने उसे अपने गॉड को याद करने को कहा। ऐसा भी हो सकता है कि डॉक्टर हिन्दू है इसलिए वे कृष्ण कृष्ण जपने को कहा है। इस बात को सवेंदनशील बनाने की जरूरत नहीं है। ऐसे में शेहला रशीद की टिपण्णी बेबुनियाद है। bangalore hospital intolerance tr

लकवा का देशी उपचार |पक्षघात का घरेलु उपाय

Muslim woman forced to chant “Krishna, Krishna” by doctors at Chintamani Government Hospital, Bangalore threatening to cancel her surgery in case she didn’t comply!!https://t.co/dl9wTBHcqr

cc @CMofKarnataka @rajeevgowda

— Shehla Rashid (@Shehla_Rashid) December 20, 2017

 

( प्रवीण कुमार )