भारत के दबाब में आया पाकिस्तान, पहली बार कश्मीर को भारत के साथ रहने की दी सलाह





भारत ने पाक को आइना दिखाया तो पाक कश्मीर पर आकर सहम गया हैं। अंतराष्ट्रीय मंचो पर मुह की खाने के बाद पाकिस्तान झुक गया हैं। उड़ी हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान पर कूटनीतिक दबाव बनाया हैं जिससे पाक में हलचल पैदा हो गयी हैं और इसका असर साफ़ देखने को मिल रहा हैं। basit said kashmir indian part 

अंतराष्ट्रीय मंचो पर कड़ी आलोचना के बाद भारत में पाक के हाई कमिश्नर अब्दुल बासित ने कहा हैं की जंग किसी भी समस्या का समाधान नहीं हैं कश्मीरियो को अपना भविष्य चुनने का मौका मिलना चाहिए। अगर वह भारत में खुश हैं तो उन्हें वहीँ रहने दो। basit said kashmir indian part 

भारत में खुश हैं तो उन्हें वहीँ रहने दो

बासित ने कहा की पकिस्तान को आतंकी मुल्क कहना सिर्फ जुमलेबाजी हैं हम भी ऐसे शब्दो का इस्तेमाल कर सकते हैं लेकिन उससे कोई मकसद हल नही होता। दो देशो के रिश्ते जुमलेबाजी से नहीं चलते हैं। किसी भी दश को इस तरह की चेतावनी देना सही नहीं। basit said kashmir indian part  

सिंधु जल के बाद अब समझौता भी नहीं जाएगी पाकिस्तान

एक अंग्रेजी अख़बार को दिए गए साक्षात्कार में बासित ने कहा की उडी में हुए आतंकी हमले में पाकिस्तान का कोई लेना देना नही हैं। बासित से जब यह सवाल किआ गया की पाकिस्तान हाफ़िज़ सईद और सैयद सलाउद्दीन को भारत के खिलाफ ज़हर उगलने की इज़ाजत क्यों देता हैं तो उन्होंने जबाब दिया की ऐसी आवाज़े भारत में भी उठती हैं लेकिन भारत और पाक की पालिसी इस चीज से तय नहीं होती हैं। basit said kashmir indian part 

हाल ही में सोशल मीडिया पर इंडियन आर्मी द्वारा सीमा पार आतंकी ठिकानों कोई तबाह किये जाने के सवाल पर बासित ने कहा की इस मामले की उन्हें कोई खबर नहीं हैं और पाकिस्तान अपनी हिफाज़त करने में काबिल हैं। मुझे नहीं लगता की चीजे इस हद्द तक बढ़ेगी।  basit said kashmir indian part 
( सलोनी पांडेय )