सिद्धू मेरे गुरु जी है उनके लिए केजरीवाल को भी छोड़ सकता हूँ : भगवंत मान




आम आदमी पार्टी की मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रही है लगातार नेता छोड़कर दूसरे दलों से जुड़ रहे हैं। आम आदमी पार्टी के सांसद भगवत मान इन दिनों पार्टी से नाराज चल रहे हैं। ऐसा माना जा रहा है कि भगवत मान जल्द ही कांग्रेस से जुड़ जाएंगें। जिस तरह से पंजाब विधानसभा चुनाव के नतीजे आए उसके बाद से ही भगवत मान दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से बात नहीं की है और लगातार कांग्रेस से नजदीकियां बढ़ाने में लगे रहे। bhagvat maan will leave aap 

भगवत मान आम आदमी पार्टी के स्टार प्रचारक रहे हैं

भगवत मान और कांग्रेस के नेता मनप्रीत बादल एक दूसरे के करीब आ चुके हैं। जिस प्रकार से पंजाब में नतीजे आए इसके बाद से ही मनप्रीत और मान नजदीक आ गए। गौरतलब है कि भटिंडा सीट से मनप्रीत ने जीत दर्ज की है उस सीट पर सुखबीर बादल के खिलाफ भगवत मान ने उनके खिलाफ जोरदार प्रचार किया था। जिसका फायदा मनप्रीत ले गए। bhagvat maan will leave aap 

दल बदल कानून

आम आदमी पार्टी का जहां तक सवाल है तो पंजाब में मान के अलावा कई बड़े नेता घुग्गी, खेहरा, फूलका के अलग अलग सुर हैं। आम आदमी पार्टी के कई स्थानीय नेता पार्टी छोड़ चुके हैं। यहां तक कि जांलधर के मीडिया कोआर्डीनेटर बलवंत सिंह ने भी पार्टी छोड़ दी है। गौरतलब है कि भगवत मान आम आदमी पार्टी से लोकसभा में सांसद हैं। इस पार्टी से चार सांसद हैं जिसमें दो पहले ही पार्टी को अलविदा कर चुके हैं। bhagvat maan will leave aap 

इजरायल की तर्ज पर भारत को देना होगा अपने पड़ोसियों को मुहतोड़ जबाब

इसलिए मान पर दल बदल कानून का असर भी नहीं पड़ेगा। भगवत मान आम आदमी पार्टी के स्टार प्रचारक रहे हैं। दिल्ली विधानसभा चुनाव में मान ने जोरदार प्रचार किया था। और जब विधानसभा का गठन हुआ तो सदन के दीर्घा में आकर अपनी उपस्थिति दर्ज कराते रहे हैं। हालांकि जब से लोकसभा में विवाद से घिरे हैं तब से उनका आम आदमी पार्टी के शीर्ष नेतृत्व से मतभेद बढ़ गए। bhagvat maan will leave aap