इस लड़की ने पर्यावरण के साथ क्या किया ? देखिये




जबसे एनडीए की सरकार केंद्र में आई, तबसे माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अनेकों योजनाओं का शुभारम्भ किया। इस संदर्भ में बेटी बचाओ योजना और पेड़ लगाओ-कल बचाओ जैसी प्रमुख योजनाएं भी है। इस सबके लिए पीएम मोदी ने सर्वप्रथम युवा वर्ग को आकर्षित करने का प्रयास किया। bihar girl planted one thousand trees

पीएम मोदी ने मन की बात के जरियों करोड़ो युवा को एक सूत्र में बांधने का प्रयास किया है। पीएम मोदी के प्रयासों का नतीजा है कि आज बेटी को समस्त भारत में प्राथमिकता दी जा रही है। जबकि देश के युवा वर्ग अपने छोटे-छोटे प्रयासों से देश को गौरवान्वित कर रहे है। इसी क्रम में बिहार की एक बेटी ने अपनी शादी पर एक ऐसा अनूठा मिसाल पेश किया। जिससे पूरा देश गौरवान्वित है। bihar girl planted one thousand trees

मोतिहारी के मझार गांव के निवासी जितेन्द्र सिंह की पुत्री ने अपने विवाह से पहले एक ऐसा काम किया जिससे आज वो सबकी प्रेरणा की स्रोत बनी हुई है। शादी से पहले किरण ने एक हजार पेड़ लगाने का फैसला किया।

जिसे पूरा करके उन्होंने एक ऐसा कीर्तिमान स्थापित किया है जो आज से पहले किसी ने नहीं किया था। किरण ने यह संकल्प लिया था की वो शादी से पहले एक हजार पेड़ लगाएगी।

अपने इस संकल्प को पूरा करने के लिए उन्होंने मेंहदी के रश्म पुरे होने के तुरंत बाद इस संकल्प को पूरा करने का निश्च्य लिया। किरण के इस काम में आस पड़ोस की महिला एवं लड़कियों ने भी सहयोग दिया। किरण गांव से प्राथमिक शिक्षा प्राप्त करने के बाद मोतिहारी कॉलेज से स्नातक किया। bihar girl planted one thousand trees

किरण को राष्ट्रपति के हाथों राष्ट्रीय विज्ञान पुरस्कार भी मिल चूका है।

गांववालों का कहना है कि किरण को शुरू से ही प्रकृति से बहुत अधिक प्रेम था। जब वो इंटरमीडिएट की परीक्षा पास की उन्ही दिनों शीशम के पेड़ बिहार में बहुत अधिक सूखने लगे। पेड़ों के सूखने वाली ये समस्या किरण को बहुत अधिक आहत किया ।

इस समस्या से निजात पाने के लिए उन्होंने एक उपाय खोज निकाला। जिसमें नीम के तेल में कैरोसिन मिलाकर डाला जिससे पेड़ पुनः हरे भरे हो गए। इस नेक काम के कारण किरण को राष्ट्रपति के हाथों राष्ट्रीय विज्ञान पुरस्कार भी मिल चूका है। bihar girl planted one thousand trees

मोदी सरकार की पहल घर बैठे पाएं गंगाजल

ये पुरस्कार उन्हें तत्कालीन राष्ट्रपति बूटा सिंह के हाथों प्राप्त हुई थी। बाद में ये जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्द्यालय में जाकर शिक्षा ग्रहण किया। बिहार राज्य स्वास्थ समिति पटना में अभी ये कार्यरत हैं। किरण वैशाली के रजापाकड निवासी प्रोफ़ेसर रमेश के साथ गुरुवार को सात फेरे ली है । bihar girl planted one thousand trees

किरण ने शीशम, कदम, जामुन,सागवान, अर्जुन एवं पीपल आदि के पेड़ लगाए। इस अवसर पर किरण ने कहा की शहरीकरण के कारण वैसे ही पेड़ों की संख्या बहुत कम हो गई है।

यदि गांव में भी इसी तरह पेड़ों की संख्यां कम हो गई तो भयंकर प्राकृर्तिक समस्या उत्तपन्न हो जायेगी। पेड़ों से हमे ऑक्सीजन मिलता है। जो जीव जगत के लिए सबसे जरूरी है। किरण के इस काम से जहां उसके पिता खुश हैं वही ग्रामीणों में किरण के प्रति अतयधिक स्नेह और प्रसन्नता है।  bihar girl planted one thousand trees
( हरि शंकर तिवारी )