बिहार आर्ट्स टॉपर्स गणेश कुमार ने दी धमकी कहा जेल से छूटते ही आतंकी संगठन ज्वाइन करूंगा




बिहार में 12वीं के टॉपर गणेश कुमार को 2017 में हुए टॉपर घोटाले में पुलिस ने शुक्रवार ( 2 जून ) की शाम को गिरफ़्तार किया। जांच के बाद पता चला की गणेश कुमार की जन्म की तारीख फर्जी थी। बिहार स्कूल एग्जामिनेशन बोर्ड (बी अस ई बी) ने बताया कि गणेश कुमार ने अपनी उम्र 24 साल बताई जबकि उनकी उम्र 41 साल है।इतना ही नहीं उनकी शादी भी हो चुकी है और उनको दो बच्चें भी है। इस मामले में पटना के कोतवाली के डीएसपी शिवली नोमानी ने कहा कि गणेश को पहले बोर्ड के पास ले जाया गया और फिर पुलिस को सौप दिया गया । 12वी की परीक्षा में गणेश ने 82.6 प्रतिशत अंक प्राप्त कर टॉप किया। bihar police arrrest ganesh kumar

अगर इसी तरह होता रहा तो लोग आतंकवादी बनेंगे।

आपको बता दें कि जब गणेश से संगीत से जुड़े सवाल पूछें गए तो वे जवाब देनें में असमर्थ दिखें। वही दूसरी तरफ बिहार में इस वर्ष 12 वीं के एग्जाम में 64.45 प्रतिशत बच्चें फेल हो गए। बिहार स्कूल एग्जामिनेशन बोर्ड में पिछले २० सालों में यह सबसे खराब नतीजा बताया जा रहा है। मंगलवार को आए नतीजों में साइंस के 30.11, कॉमर्स के 37.11 प्रतिशत बच्चें पास हुए। वही आर्ट्स में पास होने का प्रतिशत 36 बताय गया। bihar police arrrest ganesh kumar 

तीन नतीजों से हुआ शक : पहली वजह यह कि गणेश कुमार ने 12 वीं में टॉप करने पर अपनी उम्र 24 वर्ष बताई। जबकि १२वीं में परीक्षा देनें की उम्र 17-18 की होती हैं। इसके साथ ही गणेश कुमार हार्मोनियम भी नहीं बजा पाया था जबकि उसको संगीत के प्रेक्टिकल में 70 में से 65 अंक मिले थे। गणेश कुमार झारखण्ड के गिरिडीह जिले का रहने वाला है। bihar police arrrest ganesh kumar 

जाँचो के बाद गणेश गिरफ़्तार किया गया।

फर्जीवाड़े का पता पुराने रिकार्ड्स से लगाया गया। बीएसईबी के चेयरपर्सन ने जानकारी देते हुआ बताया की गणेश कुमार ने 1990 में गिरिडीह और 1992 में झुमरी तलैया से मैट्रिक की परीक्षा दी थी। दोनों बार गणेश के सेकेंड डिवीज़न आये थे। गणेश कुमार ने दोनों एडमिट कार्ड पर अपनी डेट और बर्थ 7 नवम्बर 1975 बताई थी। bihar police arrrest ganesh kumar 

भारत में हिन्दू मुसलमानों पर अत्याचार कर रहे है इसलिए मैंने अपना धर्म बदल लिया : नसीरुद्दीन शाह

इसके बाद गणेश कुमार ने 2015 में फिर से 10 वीं की परीक्षा दी थी। तब उसकी डेट और बर्थ 1993 लिखी गई थी। इस सब जाँचो के बाद गणेश गिरफ़्तार किया गया। गिरफ़्तार होने के बाद गणेश ने मिडिया से कहा था कि की जब गरीब लोग मेहनत करके अपनी गरीबी को सम्हालते हुए पढ़ाई करते हैं तो उन लोंगो को ऐसे ही फंसाया जाता है। अगर इसी तरह होता रहा तो लोग आतंकवादी बनेंगे। bihar police arrrest ganesh kumar