मोदी की जी हजूरी भी मुलायम के काम नहीं आई घर पर पड़े बिजली विभाग के छापे




बिजली सुधारना उत्तर प्रदेश सरकार की प्राथमिकताओं में है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लगातार इस दिशा में कदम बढ़ा रहे हैं जिसके तहत अब बड़े नेताओं पर हाथ डाला जा रहा है। इस अभियान की चपेट में प्रदेश में अभियान चलाया जा रहा है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बिजली सुधारने के लिए कई उपाए किए हैं जिसके तहत सरकार ने बकायेदार पर छापा मारना भी शुरू किया है। bijli vibhag ka mulayam ke ghar par chhape 

प्रदेश में कानून का राज स्थापित किया जाएगा

इस कार्रवाई के तहत सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव के इटावा घर पर छापा मारा। गौरतलब है कि मुलायम सिंह यादव का इटावा में बड़ा बंगला है और जहां सिर्फ पांच किलोवाट के मीटर लगे हैं। जबकि इनके यहां क्षमता से कई गुना अधिक बिजली की खपत हो रही है। बताया गया है कि करीब क्षमता से आठ गुना अधिक बिजली का इस्तेमाल किया जा रहा है जिसके तहत बिजली विभाग को चुना लगाया जा रहा था। bijli vibhag ka mulayam ke ghar par chhape 

सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव के इस घर पर चार लाख रुपए का बिजली का बिल बकाया है। जिसे अप्रैल के अंतिम तारिख तक चुकाने का समय दिया गया है। बिजली विभाग ने मुलायम के घर चालीस किलोवाट का मीटर लगा दिया है जिससे की अब बिजली की खपत का सही सही आकलन हो सके। bijli vibhag ka mulayam ke ghar par chhape 

2019 में बर्खास्त तेज बहादुर को सेना का कमांडर बनाया जाएगा : कांग्रेस

निश्चिततौर पर हाई प्रोफाइल नेताओं पर छापा मारना सरकार के लिए अहम फैसला है क्योंकि इटावा ही वह क्षेत्र है जहां सबसे ज्यादा बिजली की चोरी होती है। अगर हाईप्रोपाइल घर पर छापा मारा जाएगा तो तय है कि निचले स्तर पर अपने आप बिजली चुकाने का दवाब बनेगा। और छापे मारे जा सकेंगे। bijli vibhag ka mulayam ke ghar par chhape 

बिजली के इस कदम से प्रदेश में भ्रष्टाचार के खिलाफ एक संदेश गया है और अब तेजी से बिजली चोरी के खिलाफ कार्रवाई हो सकेगी। गौरतलब है कि योगी आदित्यनाथ ने मुख्यमंत्री की शपथ लेते ही यह कहा था कि भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई करेगी और प्रदेश में कानून का राज स्थापित किया जाएगा। bijli vibhag ka mulayam ke ghar par chhape