फ्लोर टेस्ट के लिए भाजपा के बोपैया बने प्रोटेम स्पीकर




कल होने वाले फ्लोर टेस्ट के लिए गवर्नर ने भाजपा के विधायक केजी बोपैया को प्रोटेम स्पीकर नियुक्त किया है. नियमानुसार सदन में सबसे सीनियर नेता को ही प्रोटेम स्पीकर नियुक्त किया जाता है. इससे पहले 2008 में भी उन्हें प्रोटेम स्पीकर बनाया गया था. bopiaya become protem speaker 

गवर्नर के इस फैसले को लेकर भी विरोधियों ने विरोध करना शुरू कर दिया है. कांग्रेस नेता अभिषेक मनुसिंघवी ने इसे गवर्नर का असंवैधानिक कृत्य करार दिया है. हालाँकि उन्होंने भी यह बात मानी कि सदन के सबसे सीनियर लीडर को ही प्रोटेम स्पीकर बनाया जाता है. लेकिन सिंघवी किसी अन्य सीनियर का नाम बताने में असमर्थ रहे. bopiaya become protem speaker 

वॉव बॉडी वाश जो आपको दे ताज़गी का एहसास | Gharelu Nuskha | Wow Lemon Fabulous BodyWash |

इस बीच कांग्रेस के विधायक आरवी देशपाण्डे ने संवैधानिक प्रक्रिया का पालन करने की दुहाई देते हुए खुद को सबसे सीनियर नेता बताने का दावा किया. जबकि भाजपा के प्रकाश जावडेकर ने 3 बार लगातार विधायक रह चुके बोपैया के बारे में बताते हुए कहा कि वह 2008 में भी प्रोटेम स्पीकर बने थे और उस वक़्त उनकी उम्र आज से करीब 10 वर्ष कम थी. bopiaya become protem speak

er 

वही अब इस मामले को लेकर भी कांग्रेस कोर्ट का दरवाजा खटखटाने का मन बना लिया है. कांग्रेस के अभिषेक मनु सिंघवी ने इसे रूल बुक के खिलाफ बताते हुए आरोप लगाया कि एक बार फिर से राजभवन ने मर्यादाओं को तार-तार किया है. उन्होंने भाजपा पर दोष मढ़ते हुए कहा कि बीजेपी बैलेट पेपर से चुनाव करवाना चाहती है लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने इससे साफ़ मना कर दिया है.

एक क्लिक में पाइए देश सहित बाकी हिस्सों का समाचार ( National News In Hindi) सबसे पहले Mobilenews24.com पर। Mobilenews24.com से हिंदी समाचार (Hindi News) और अपने मोबाइल पर न्यूज़ पाने के लिए हमारा मोबाइल एप्लीकेशन डाउनलोड करने के लिए इस ब्लू लिंक पर क्लिक करें Mobilenews24.com App और रहें हर खबर से अपडेट।

National News से जुड़े हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Mobilenews24.com के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।