चीनी सामान के विरोध से बौखलाया चीन।

भारत में चीनी सामानों का विरोध अब तूल पकड़ता जा रहा हैं जिसने की अब चीन की नींदे उड़ा दी हैं। अब इस त्योहारी सीजन को देखते हुए भारी संख्या में लोगो सोशल मीडिया द्वारा लोगो से अपील कर रहे हैं की वह ख़ास तौर पर इस दिवाली चीनी सामानों से बिलकुल दूर रहें। महाराष्ट्र में तो एम एन एस अब सड़को पर उतर आया हैं और लोगो को चीनी सामानों का पुरजोर विरोध करने के लिए प्रदर्शन कर रहा हैं। chaina upset goods boycott

कुछ ही दिन पहले नागपुर में कुछ महिलाओ को घर घर जा कर लोगो से चीनी सामानों का प्रयोग ना करने की अपील करते देखा गया था।

बहिष्कार की अपीलें किये जाने पर चीन ने कहा है कि इस तरह के कदमों से भारत में उसकी कंपनियों के निवेश पर प्रतिकूल असर पड़ेगा। इससे दोनों देशों के बीच संबंधों पर भी प्रभाव पड़ेगा।

भारत में चीन के दूतावास ने एक बयान में कहा कि इस तरह के बहिष्कार से उसके निर्यात पर कोई खास असर नहीं पड़ेगा लेकिन समुचित विकल्प न होने पर बहिष्कार का सबसे ज्यादा नुकसान भारतीय व्यापारियों और उपभोक्ताओं को ही होगा।चीन का कहना हैं की वह दुनिया का सबसे बड़ा व्यापारिक भागीदार है।

उसका कुल निर्यात 2276.5 अरब डॉलर है। भारत को उसका निर्यात सिर्फ दो फीसद है। ऐसे में, भारत में चल रही ऐसी कुछ गतिविधियों से उसके निर्यात पर कोई खास असर नहीं होगा।

घबराया चीन अब भारत का देगा साथ, पाकिस्तान परेशान

चीन इस बात को लेकर ज्यादा चिंतित है कि इससे भारत में चीन की कंपनियों का निवेश प्रभावित होगा। गौरतलब है कि भारत-पाक के बीच तनाव बढ़ने पर चीन द्वारा पाक का समर्थन किये जाने के बाद आम लोग सोशल मीडिया पर नाराजगी जता रहे हैं और उत्पादों का बहिष्कार करने की अपील कर रहे हैं।

खरीदारी करने जा रहे लोग चीनी सामानों का पता लगते ही खरीदने से साफ़ इनकार कर दे रहे हैं। और केवल भारत निर्मित वस्तुओ की ही मांग कर रहे हैं। chaina upset goods boycott,  chaina upset goods boycott,  chaina upset goods boycott,  chaina upset goods boycott