पीएम मोदी मेरा बाल भी बांका नहीं कर पाएंगे : लालू यादव




उच्चतम न्यायालय के आदेश के बाद लालू की मुश्किलें बढ़ गई हैं। अब उनपर चारा घोटाले मामले में अलग अलग केस चलेंगे। राजद सुप्रीमो लालू यादव की मुश्किलें कम होती नजर नहीं आ रही है। उच्चतम न्यायालय ने यह आदेश दिया है कि चारा घोटाले से संबंधित केस में उनके खिलाफ अलग अलग केस चलेगा। chara chor par chalega mukadma 

राजद और जदयू गठबंधन में दरारें अभी से साफ नजर आने लगी है

सीबीआई ऩे अलग अलग केस चलाने के दलील दी थी जिसे उच्चतम न्यायालय ने स्वीकार कर लिया है गौरतलब है कि झारखंड हाई कोर्ट ने यह आदेश दिया था कि जिसके तहत एक ही मामले में अलग अलग केस नहीं चलाए जा सकते हैं जिसके खिलाफ सीबीआई उच्चतम न्यायालय में केस दर्ज किया था। chara chor par chalega mukadma 

लालू यादव का केस प्रसिद्ध वकील व राज्यसभा सदस्य रामजेठमलानी लड़ रहे हैं जिसकी दलील को उच्चतम न्यायालय ने अस्वीकार कर दिया है। अब लालू यादव पर अलग अलग केस चलते रहेंगे। गौरतलब है कि चारा घोटाले मामले में अभी वे दोषी करार दिए गए और उन्हें सजा हो चुकी है। और चुनाव लड़ने पर प्रतिबंध भी लगा है। लालू यादव पर एक केस में पांच साल की सजा हुई है जबकि छह अन्य केस चलते रहेंगे। chara chor par chalega mukadma 

लालू यादव को दिक्कत आ सकती हैं

लालू प्रसाद यादव अपने बेबाकी के लिए जाने जाते हैं। लालू यादव कोर्ट के सजा के कारण ही चुनाव नहीं लड़ें और वे बिहार में अपने पुत्र को गद्दी पर बैठा दिया है जबकि अपनी पुत्री मीसा यादव को राज्यसभा में भेज चुके हैं। लालू यादव की मंशा थी कि वे सजा के पांच साल 2019 के लोकसभा चुनाव में पूर्ण भागीदारी करेंगे। chara chor par chalega mukadma 

पीएम मोदी जी मुस्लिमों को तंग करना छोड़ दो नहीं तो देश को दो भाग में बाँट दूंगा: लालू यादव

इसलिए ही चुनाव की तैयारी में पूर्ण रूप से अभी से लगे हुए थे जिसे अभी झटका लग सकता है क्योंकि अलग अलग मामले में फैसले आएंगें। जिसको लेकर लालू यादव को दिक्कत आ सकती हैं। लालू यादव बिहार की राजनीति में जिस तरह से बिहार विधानसभा चुनाव में लौट कर सत्ता में आए हैं ऐसे में अब उनपर फिर से ग्रहण लग सकता है। क्योंकि राजद और जदयू गठबंधन में दरारें अभी से साफ नजर आने लगी है। chara chor par chalega mukadma