मोदी सरकार का ऐलान देश को कांग्रेस मुक्त और शराब मुक्त बनाना है




बिहार के मुख्यमंत्री ने शराबबंदी का ऐसा जोर चलाया है कि अब हर प्रदेश इसे लागू कर अपनी लोकप्रियता भुनाना चाहता है। जिसको लेकर लगातार बयान आ रहे हैं। बिहार में पूरी तरह से शराबबंदी है। और इसे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दिल्ली में नगर निगम के चुनाव में आकर खूब प्रचार प्रसार किया। ऐसे में अन्य प्रदेश की सरकार कैसे रूक जाएगी। इसी कड़ी में अब मध्यप्रदेश सरकार शराबबंदी पर अपने बयान दिए हैं कि धीरे धीरे यहां शराबबंदी पर पाबंदी लगाई जाएगी। chhatishgarh govt ban wine 

विपक्ष ने सरकार को घेरा भी है

जिसके लिए कार्य किया जा रहा है। मध्यप्रदेश सरकार ने फैसला किया है कि नर्मदा नदी के किनारे आने वाले सभी शराब की दुकान अब बंद कर दिए जाएंगे जिसे सिलसिलेवार बंद शुरू किया जाएगा। मध्यप्रदेश सरकार गुजरात और बिहार में शराबबंदी को लेकर अध्ययन कर रही है। ताकि इसे कैसे लागू किया जाए। वहीं उत्तर प्रदेश सरकार पर भी काफी दबाव है। chhatishgarh govt ban wine 

योगी सरकार इस सिलसिले में भले ही अभी कोई नीति नहीं अपनाए है लेकिन जिस तेजी से अपने कार्यक्रम लागू किए हैं उससे तो यही लगता है कि यहां भी शराबबंदी लागू हो जाएगी। उत्तर प्रदेश में यह शराबबंदी को लागू किया जाएगा लेकिन धीरे धीरे। जिसके लिए कार्ययोजना पर कार्य किया जा रहा है। जिस तरह से प्रदेश में तेजी से अवैध बूचड़खाने पर रोक लगी उसके बाद से तेजी से सुधार के कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं जिसका अगला चोट शराब ही होगा। chhatishgarh govt ban wine 

राहुल गाँधी की शादी शाही अंदाज़ में होगी जिसे दुनिया देखती रह जाएगी : सोनिया गाँधी

जिस तेजी से शराबबंदी प्रत्येक प्रदेश में लागू हो रहा है तो तय है कि भाजपा शासित राज्यों में और तेजी से इसे लागू करने की मांग बढ़ेंगी। हालांकि अभी लगभग सभी प्रदेशों में भाजपा का ही शासन है। अब शराबबंदी की तेजी से मांग छत्तीसगढ़ में उठी है जिसको लेकर विपक्ष ने सरकार को घेरा भी है। और यहां भी कई संगठन शराबबंदी लागू करने की मांग की है। chhatishgarh govt ban wine