जानिए चिकनगुनिया से बचने के आसान घरेलू नुस्खा




दोस्तों, वर्ष में चार प्रमुख मौसम होते है। गर्मी, बरसात, ठंडी और बसंत। हर एक ऋतू के आने-जाने से वातावरण में विशेष बदलाव देखने को मिलता है। जिससे मानव शरीर पर भी असर पड़ता है। हालांकि, ये बदलाव कभी खतरनाक तो कभी नार्मल रहता है। ऐसे में हमें संभल कर रहना चाहिए ताकि हमारा स्वास्थ सुरक्षित और तंदरुस्त रहे। chikangunya gharelu upaay 

गर्मी का मौसम जाने के बाद बरसात का मौसम आ गया है। इस मौसम में नाना प्रकार की बीमारी फैलती है। जो समाज और स्वास्थ दोनों के लिए दुखदायी है। इस मौसम में होने वाली बीमारी मलेरिया, डेंगू, चिकनगुनिया आदि प्रमुख है। आज हम आपको चिकनगुनिया रोग के लक्षण, उपचार और सावधानी के बारे में बताएँगे। chikangunya gharelu upaay 

मिर्गी के रोगी आपके आस-पास है इलाज

चिकनगुनिया के मच्छर बरसात में पनपते है। ये अल्फावायरस के कारण होता है जोकि मच्छरों के काटने से शरीर में प्रवेश करता है। इसके लक्षण जोड़ों में दर्द, उलटी, जी मचलाना और बुखार है। ये लक्षण रोगी को मच्छर काटने के बारहवें दिन में उभरते है। chikangunya gharelu upaay 

हालांकि, डॉक्टरों के निर्देशानुसार दवाइयों लेने से इस रोग का इलाज हो जाता है लेकिन कुछेक घरेलु उपाय भी है। जिसके इस्तेमाल से आप चिकनगुनिया जैसे असधक रोग से बच सकते है। डॉक्टर भी घरेलु उपचार रेकमेंड करते है । अधिक जानकारी के लिए क्लिक करें gharelunuskha.com