अमेरिका से बौखलाया चीन कहा – अंजाम को तैयार हो जाओ





एक बार फिर चीन की बौखलाहट अमेरिका के खिलाफ दिखाई दिया है. दरसल अमेरिका के वित्त विभाग ने उत्तर कोरिया से चीन और रुष से लोगों तथा कंपनियों पर प्रतिबन्ध लगाने की करवाई किया है. ये साल दूसरी बार है जब अमेरिका ने चीनी कंपनियों और चीनी लोगों पर इस तरह से प्रतिबन्ध लगाया है. इसी साल बैंक ऑफ़ डॉनडॉग को मनी लौन्डरिंगके चलते ब्लैकलिस्ट कर दिया था. china ne kaha anjaam ko taiyar ho jao

अमेरिका ने जैसे ही ये कदम उठाया उससे चीन बौखला उठा. चीन के एक सरकारी अख़बार ग्लोबल टाइम्स के छपे एक लेख में अमेरिका की काफी आलोचना की गयी है. ग्लोबल टाइम्स ने लिखा है “’चीनी कंपनियों पर अमेरिका द्वारा लगाए गए प्रतिबंधों को चीन कभी स्वीकार नहीं करेगा। हालांकि चीन पर इस थोड़ा असर जरूर पड़ सकता है, लेकिन चीन ने कभी कोई नियम कानूनों का उल्लंघन नहीं किया। यदि अमेरिका के पास इस बात के पुख्ता सबूत हैं कि चीन ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों का उल्लंघन किया है तो वह डिप्लोमैटिक चैनलों के जरिए बात कर सकता था।“ china ne kaha anjaam ko taiyar ho jao



यह फूल पिम्पल्स और मुँहासे करेगा दूर

ग्लोबल टाइम्स ने आगे लिखा है की “उत्तर कोरिया को लेकर चीन पूरी गंभीरता से यूएन सिक्योरिटी काउंसिल के नियमों का पालन कर रहा है। वह उत्तर कोरिया को कोयला, लोहा तथा अन्य सामानों की आपूर्ति पर रोक लगाएगा। अगर कोई भी चीनी कंपनी इन नियमों का पालन नहीं करती है तो उन्हें चीनी कानून के तहत सजा दी जाएगी।“ china ne kaha anjaam ko taiyar ho jao

चीन का मनांना है की अमेरिका ने अपने दायरे से बहार जा कर कम किया है. जो प्रतिबन्ध लगाया गया है वो सही नहीं है चीन ने साथ में येआ भी कहा की अमेरिका ये कैसे कह सकता है वो बिना सबूत के की “चीन उत्तर कोरिया के साथ अवैध व्यापार हो रहा है ? और साथ ही ये भी कहा है की वाशिंगटन को ये अधिकार कहाँ से मिला की वो इस तरीके से अपना निर्णय सुना दे ? इस तरह के प्रतिबंधों से अमेरिका अंतरराष्ट्रीय स्तर पर चीन की छवि को ठेस पंहुचा रहा है. china ne kaha anjaam ko taiyar ho jao

चीन ने अमेरिका को धमकाते हुए कहा है की “अगर ऐसे प्रतिबंधो से अमेरिका को ऐसा लगता है की वह ची पर अपना दवाब बना लेगा तो वह उसका भ्रम है. चीन अमेरिका के खिलाफ वो हर कदम उठा सकता है जो वो चाहता है. अच्छा होगा अमेरिका अपने दायरे में रहे. china ne kaha anjaam ko taiyar ho jao

 

छेड़-छाड़ का किया विरोध,अपराधियों ने काटे हाथ