भारत के मुसलमानों को चीन के मुसलमानों से सिखने की ज़रूरत

 




चीन में मुस्लिम कट्टरपंथी पांव न पसारे इसके लिए सरकार ने सख्त नियम कर दिए हैं। जिससे पूरा शहर एक छावनी में तब्दीली हो गया है।चीन के जिनजियांग क्षेत्र अशांत रहा है इसलिए सरकार ने एतिहात के तौर पर सख्त पाबंदियां लगा दी है। यहां दाढ़ी रखने पर भी आंशिक प्रतिबंध है। यहां तक कि सार्वजनिक तौर पर इबादत नहीं किया जा सकता। इस बार ईद में भी बहुत कम लोग मस्जिद में आए इसका कारण यही है कि सरकार ने इतने कड़े नियम लगा दिए हैं जिससे आम आदमी काफी असहज महसूस करने लगा। दरअसल यह सब सख्त नियम इसलिए बनाए गए हैं क्योंकि इस्लामिक चरमपंथ पर नियंत्रण किया जा सके। लेकिन कुछ विश्लेषकों को यह नागवार गुजर रहा है उनका कहना है कि जिनजियांग एक खुली हवा वाले जेल में तब्दील हो चुका है। गौरतलब है कि सरकार ने ऐसा इसलिए किया है क्योंकि एक क्षेत्रीय राजधानी उरुम्की में सिलसिलेवार भड़के दंगों में करीब दो सौ लोगों के मारे गए थे। आतंकी संगठन आईएस ने खून की नदियां बहाने की धमकी थी। जिसके बाद चीन के राष्ट्रपति चिनफिंग ने इलाके के चारों ओर लोहे की दीवार बनाने का आदेश दिया। china’s uighur muslims struggle





चीन को पीछे छोड़ दुनिया का नेतृत्व करने के लिए उभर रहा है भारत

सरकार ने पिछले एक वर्ष में जिनजियांग में करीब दस हजार सुरक्षाकर्मियों की तैनाती की है। हर ब्लॉक में पुलिस स्टेशन बनवा दिए हैं। कट्टरपंथियों पर नियंत्रण के लिए कई कड़े प्रतिबंध लगा दिए गए और कई नियम बना दिए गए। यहां तक कि सरकारी कर्मचारियों को भी रमजान के दौरान रोजा रखने की मनाही कर दी गई। पचास वर्ष से कम उम्र के लोगों को दाढ़ी रखने की मनाही है। स्कूलों में सलाम बोलने तक को हतोत्साहित किया जा रहा है। पुलिस की सख्ती इतनी बढ़ा दी गई है कि मस्जिदों में पुलिस लाइव मॉनिटर करते हैं कि कोई गड़बड़ी तो नहीं किया जा रहा है। रमजान के दौरान तो हर दिन शहर की ज्यादातर गलियों में पेट्रोलिंग होती रही। जुमे के नमाज के लिए जाने वाले लोगों को दो चेकपाइंट्स पर पहचान पत्र दिखाना पड़ता है। गौरतलब है कि हाल के वर्षों में कई ऐसे वारदात हुए हैं जिसको लेकर सरकार ने कड़े प्रतिबंध लगाए हैं। लेकिन जिस प्रकार से सरकार ने कड़े प्रतिबंध लगाए हैं इससे लोगों को लग रहा है कि इससे सांस्कृतिक पहचान खो जाएगी। लेकिन सरकार पर इन सब चीजों का कोई असर नहीं है। शांति व्यवस्था कायम रहे और चरमपंथी पर नियंत्रण रहे इसके लिए कड़े नियम लागू कर दिए गए हैं। china’s uighur muslims struggle

 

loading…