नोट बंदी से हुए करोड़ो रुपयो के फायदों को गरीबो में बांटा जाएगा।

नोट बंदी से हुए करोड़ो रुपयो के फायदों को गरीबो में बांटा जाएगा। पीएम मोदी देश की जनता की सुविधा के लिए कई और योजनाए लांच करने जा रहे हैं। जिसका फायदा 2019 के लोकसभा चुनावो से पहले सीधे जनता तक पहुचाया जाएगा।  closure rupyo distributed, benefits millions poor.

पीएम मोदी ने अपने अधिकारियों से कहा है कि वह चाहते हैं कि आम लोगों तक इस योजना का लाभ सीधे पहुंचे, वह इसे बहुत बड़ी योजना बता कर सामने लाना चाहते हैं।
पीएमओ के अनुसार पीएम मोदी ने खुद सीनियर अधिकारियों से इस दिशा में ‘ब्रेन स्टॉर्मिंग सेशन’ आयोजित करने को कहा है। वहीं पीएमओ नोटबंदी के बाद पूरे देश से मिले फीडबैक से खुश है।

एक फीडबैक के अनुसार विपक्ष पीएम मोदी के नाम को विजय माल्या और ललित मोदी के साथ जोड़ने के काम करता था लेकिन नोटबंदी के बाद आम लोग इस कार्रवाई को विजय माल्या जैसे बड़े लोगों के खिलाफ मान रहे हैं। पीएमओ की टीम 8 नवंबर को नोटबंदी के घोषणा के बाद अपने स्तर पर पर हर दिन पूरे देश से फीडबैक ले रही है।

इसके अलावा 50 दिनों के बाद नोटबंदी की सफलता के बार में भी आम लोगों तक इसकी जानकारी पहुंचाने के लिए भी बड़ा अभियान चलाया जाएगा।

खुद पीएम मोदी ने पूरे देश में इस योजना की सफलता के लिए 50 दिनों तक सहयोग मांगा है। नोटबंदी के बाद रिजर्व बैंक के पास लगभग 14 लाख करोड़ रुपये वापस आने हैं।

इनमें से जितने रुपये नहीं लौटेंगे उसे सरकार ब्लैकमनी के रूप में पेश करेगी और उन आंकड़ों को लोगों तक लेकर जाएगी। सरकार का अनुमान है कि तीन लाख करोड़ से चार लाख करोड़ के बीच यह राशि होनी चाहिए।

हालांकि इस दौरान आम लोगों को कम से कम दिक्कत हो और ग्रोथ पर बहुत निगेटिव प्रभाव नहीं पड़े, ऐसा करना मोदी सरकार के लिए चुनौती बनी हुई है।  closure rupyo distributed, benefits millions poor,  closure rupyo distributed, benefits millions poor,  closure rupyo distributed, benefits millions poor.