राष्ट्रपति चुनाव:कांग्रेस की कोशिश हुई फेल,नहीं मिले नितीश कुमार





कांग्रेस किसी भी तरह से नीतीश कुमार को मनाने की कोशिश कर रही है कि किसी भी तरह से वे मान जाएं और राष्ट्रपति के चुनाव में मीरा कुमार को अपना समर्थन दे दें। लेकिन वे असमर्थ रहे।बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राजग के उम्मीदवार बिहार के राज्यपाल रहे रामनाथ कोबिंद को समर्थन देने के अपने फैसले पर अडिग हैं। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबीं आजाद ने अभी नीतीश कुमार की तरफदारी की जिसके बाद ऐसा लग रहा था कि शायद वे अपना मन बदले। congress-fail

जानिए कैसे नियुक्त होते है राष्ट्रपति?

लेकिन नीतीश कुमार विपक्ष के उम्मीदवार मीरा कुमार से मीटिंग करने को भी तैयार नहीं हुए। गौरतलब है कि राष्ट्रीय जनता दल और कांग्रेस इस कोशिश में हैं कि किसी भी प्रकार से बिहार के बेटी के नाम पर नीतीश कुमार उनके समर्थन में आ जाएं। लेकिन नीतीश कुमार किसी न किसी भी प्रकार के बहाने मीरा कुमार से मीटिंग करने से बचते रहे। गौरतलब है कि नीतीश कुमार ने विपक्ष के उम्मीदवार खड़ा करने के लिए सबसे पहले सोनिया गांधी से मिले थे। congress-fail

 

congress-fail राष्ट्रपति चुनाव को लेकर कांग्रेस की कोशिश पर पानी फिरता नजर आ रहा है।

नीतीश कुमार चाहते थे कि गैर राजनीतिक दल राष्ट्रपति पद के लिए उम्मीदवार हो लेकिन कांग्रेस ने उम्मीदवारी देने मे देर कर दिया। जिसके बाद नीतीश कुमार ने राजग उम्मीदवार रामनाथ कोबिंद को पहले ही समर्थन दे दिया। नीतीश कुमार से कांग्रेस बार बार आग्रह करते रही है कि वे अपना मन बदले। लेकिन नीतीश कुमार ने कहा है कि राजनीति में फैसले इतनी जल्दी नहीं बदले जाते। लेकिन राजद और कांग्रेस ने मीरा कुमार को बिहार की राजधानी पटना में दौरा करवा कर नीतीश कुमार से मीटिंग की कोशिश कर रही है लेकिन नीतीश किसी न किसी बहाने वे उनसे नहीं मिले हैं। और अपने फैसले पर अडिग हैं।

loading…