अब कैसे बनूँगा देश का प्रधानमंत्री ? : नितीश कुमार congress-free-india





प्रवीण कुमार,

पांच राज्यों के चुनावी परिणाम से ना केवल कांग्रेस की बल्कि बिहार के मुख्य्मंत्री नितीश कुमार की बेचैनी बढ़ गई है। कांग्रेस की तो नैया डूबने पर है और नितीश कुमार अब भी देश के प्रधानमंत्री बनने के सपने देख रहे है। इसे कहते है मुंगेरी लाल के हसीन सपने।

जो हाल कांग्रेस को पांच राज्यों में हुई है, उससे तो एक बात स्प्ष्ठ हो चुकी है कि देश का जनादेश मोदी के साथ है। बीजेपी ने ना केवल असम में ऐतिहासिक विजय हासिल की है बल्कि पश्चिम बंगाल और केरल में अपना खाता भी खोला है। मोदी की लहर के आगे कांग्रेस नतमस्तक होती दिख रही है।

यदि 2014 में लोकसभा चुनाव के समय और वर्तमान में राजनीति समीकरण देखे तो बीजेपी पुरे देश में फ़ैल चुकी है जबकि कांग्रेस संकुचित होती जा रही है। ऐसे में कांग्रेस के नेता अथवा विपक्ष के अन्य पार्टियों के लिए खतरे की घंटी है। चुनाव परिणाम से नितीश कुमार को अधिक नुकसान हुआ है क्योंकि उनकी प्रधानमंत्री पद के दावेदारी में सेंध लगी गई है।

एक तरफ जंहा बिहार में जंगल राज से बिहारी जनता परेशान है वही कांग्रेस को मिल रही हार पर हार से कांग्रेस पार्टी बेहाल है। ऐसे में अगले दो साल में देश की जनता में असाधारण परिवर्तन होने के कम आसार दिख रहे है और स्थिति यहां तक पहुंच गई है कि नितीश कुमार सोचने को मजबूर हो गए है कि बीजेपी मुक्त भारत का ऐलान कर उन्होंने गलती तो नहीं कर दी क्योंकि देश तो कांग्रेस मुक्त भारत की दहलीज पर है।

बिहार के मुख़्यमंत्री नितीश कुमार के लिए केवल एक राय है आप बिहार को संभालो ताकि बिहारियों को किसी अन्य प्रदेश में रोजी-रोटी के लिए ना पड़े और ना ही राज्य में खून खराबा हो। देश की चिंता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर छोड़ दें। मोदी देश के प्रधानमंत्री पद के लिए योग्य और ईमानदार उम्मीदवार है, उन्हें ही 2019 में देश का प्रधानमंत्री बनना चाहिए।  अब कैसे बनूँगा देश का प्रधानमंत्री ? : नितीश कुमार congress-free-india