जानिए क्यों एक छींक से डरते है अपराधी?





कभी कभी पुलिस के हत्थे ऐसे अपराधी चढ़ जाते हैं जिनके अपराध करने का तरीका ही कुछ भिन्न होता है। विभिन्न प्रदेशों के पुलिस ने ऐसे अपराधियों के गिरोह को पकड़ा है जो अपराध करने से पहले तिथि और मुहूर्त देख लेता है और उसके बाद वारदात को अंजाम देता है। खास बात यह है कि इसमें कई गिरोह अमावस को वारदात नहीं करता तो कोई छींक को अपशगुन मानकर बिना वारदात किए लौट आता है। criminal sneeze fear

इनमें बावरिया, इरानी और पारदी गिरोह है। जो उत्तर प्रदेश, हरियाणा और राजस्थान में हुई कई वारदात के दिन और समय की जांच पड़ताल के अलावा इन गिरोहों के अब तक पकड़े गए बदमाशों से पूछताछ से यह बात सामने आई है। पारदी गिरोह घोर अधंविश्वासी हैं ये लोग अगर वारदात के लिए जा रहे होते हैं और कोई छींक दे तो वे लौट जाते हैं। criminal sneeze fear

गुड़गांव की पुलिस टीम ने इस गिरोह को पकड़ा है। इनका वारदात करने का तरीका ही कुछ अलग है। यह वारदात के एक दिन पहले रेकी करते हैं। इनकी संख्या करीब 5-6 होती है जो घर में घुसकर सो रहे लोगों को बाहर से बंद कर देते हैं। पारदी गिरोह खासकर रोड साइड घरों को अपना निशाना बनाते हैं।



गैंगस्टर के अंतिम संस्कार के बाद भी जारी है आन्दोलन, इलाके में लगा कर्फ्यू

अपराध करने वाला इरानी गिरोह ऐसा है जो खासकर वारदात करने के लिए दोपहर के समय चुनता है। यह गिरोह अपने आपको पुलिस बताता है और खासतौर पर महिलाओं से जूलरी ठगता है। इनकी भी संख्या पांच या छह तक ही होती है। मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र से आने वाला यह गिरोह सप्ताह में एक बार ही वारदात को अंजाम देता है। criminal sneeze fear

सप्ताह में दो बार वारदात को यह अपशगुन मानता है। इसकी खासियत यह भी है कि महिलाओं को पहले नमस्ते करता है उसका बाद वारदात करता है। बावरिया गिरोह में अपराधियों की संख्या 8-10 तक होती है। इनकी खासियत यह है कि यह गिरोह रात में वारदात करता है। बावरिया घर में घुसकर मारपीट करने से भी गुरेज नहीं करता है। criminal sneeze fear

यह गिरोह घर में घुसकर पूरे परिवार को बंधक बनाते हैं और महिलाओं से रेप तक करते हैं। यह गिरोह अंधेरी रात में और आधी रात को वारदात के लिए समय चुनता है। इनका अंधविश्वास है कि अमावस को वारदात को अंजाम नहीं देता है। इस दिन अपने देवता की पूजा करते हैं। पारदी, इरानी और बावरिया गिरोह किसी तरह का अपशगुन होने पर वारदात किए बिना भी वापस चले जाते हैं।

loading…


झरते बालों को फिर से उगाना है तो इसे खाएं या लगाएं