इतिहास में पहली बार दलित संत को महामंडलेश्वर की उपाधि




जूना अखाड़े की ओर से इतिहास में पहली बार अखिल भारतीय अखाडा परिषद् में एक दलित समुदाय के संत को धर्माचार्य का पद सौपने की घोषणा की गयी है. इलाहबाद स्थित मौजगिरी आश्रम में जूना अखाड़े के अनेकों संतों की उपस्थिति में संत कन्हैया कुमार कश्यप को दीक्षा व संस्कार प्रदान किया गया. धर्माचार्य बनने के बाद कन्हैया कुमार अब कन्हैया प्रभुनंद गिरी के नाम से जाने जायेंगे. यह कदम सनातन संस्कृति के इतिहास में अपनी तरह का पहला कदम है.

गौरतलब है समाज में तेजी से नैतिकता का पतन होने के साथ ही ऊंच-नीच की खाई एक बार फिर से गहरी होती जा रही है. अन्य धर्मों के प्रचारक लोगों को बहला-फुसलाकर धर्मपरिवर्तन करवा रहें हैं. बीते कुछ सालों के दौरान समाज के दलित समुदाय को हिन्दू परंपराओं से अलग करने की हो रही कोशिशों को देखने के बाद, इन कुरीतियों को रोकने के लिए दलित संत को धर्माचार्य की पदवी देने का निर्णय लिया गया है.

पीएम मोदी अनपढ़ है उनसे मुँह लगाना बेवकूफी है : मोहम्मद आसिफ

जूना अखाड़े के संत पंचानन गिरी की माने तो सनातन धर्म में लम्बे समय से व्याप्त कुरीतियों के कारण धर्म का क्षय हो रहा है जिस कारण इन्हें ख़त्म करना आवश्यक हो गया है. उन्होंने कहा कि सनातन धरम में इससे पहले भी कई संत हुए हैं जिन्हें सभी के बराबर सम्मान मिला था, इसके साथ ही संत पंचानन ने कहा कि आने वाले कुम्भ के दौरान कई अन्य योग्य दलित संतों को भी धर्माचार्य की पदवी दी जायेगी.

तेज़ धुप में फेस टेनिंग से कैसे बचें | Beauty tips | कालेपन का नुस्खा

बता दें की संत कन्हैया प्रभुनंद गिरी अनुसूचित जाति से आते हैं उन्होंने ने संस्कृत विषय से मास्टर्स किया है. खास बात यह है कि उन्होंने 2016 में उज्जैन के सिंहस्थ के दौरान ही दीक्षा ली थी. इस संबंध में उनका कहना है कि मैंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था की इतने बड़े पद पर मुझे आसीन कर दिया जायेगा. उन्होंने कहा कि मेरे जीवन का उद्देश्य सनातन धर्म का प्रचार-प्रसार करना है. मै उन सभी लोगों को वापस हिन्दू धर्म से जोड़ने की कोशिश करूंगा जो किसी कारणवस दूसरे मार्ग पर चले गये हैं.

एक क्लिक में पाइए देश के बाकी सभी हिस्सों सहित दिल्ली का समाचार (Delhi News In Hindi) सबसे पहले Mobilenews24.com पर। Mobilenews24.com से हिंदी समाचार (Hindi News) और अपने मोबाइल पर न्यूज़ पाने के लिए हमारा मोबाइल एप्लीकेशन डाउनलोड करने के लिए इस ब्लू लिंक पर क्लिक करें Mobilenews24.com App और रहें हर खबर से अपडेट।

Delhi News से जुड़े हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Mobilenews24.com के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।