भूकंप आ रहा है भागो




जहाँ देश में दलित एक्ट को लेकर भूचाल मचा हुआ है। वही देश की राजधनी दिल्ली में इन दिनों भूकंप की झूठी खबर से भूचाल मचा हुआ है। हालाँकि, आधिकारिक तौर पर इसकी कोई घोषणा नहीं हुई है लेकिन इन दिनों सोशल मीडिया पर एक खबर बड़ी तेज़ी से फ़ैल रही है। जिसमें बताया जा रहा है कि नासा के पूर्वानुमान के अनुसार अप्रैल महीने के दूसरे सप्ताह में देश की राजधानी दिल्ली में प्रलयकारी भूकंप आने वाला है। delhi earthquake news

राजस्थान और तमिलनाडु में भी देखने को मिल सकता है। delhi earthquake news

जिसकी तीव्रता रिक्टर स्केल 9.1 या 9.2 होगी और इसका केंद्र गुरुग्राम रहने वाला है। ये भूकंप अब तक की दूसरी सबसे बड़ी त्रासदी होगी जिसमें लाखों की संख्या में लोग मारे जाएंगे। इसके लिए मैसेज में अपने जान माल की क्षति से बचने के लिए अप्रैल के महीने में दिल्ली छोड़ने की सलाह दी जा रही है। वही ऐसा खबर में बताया जा रहा है कि इसका असर पंजाब, हरियाणा, बिहार, राजस्थान और तमिलनाडु में भी देखने को मिल सकता है। जबकि अधिक जानकारी के लिए www.nasaalert.com पर विजिट करने की सलाह दी जा रही है। delhi earthquake news

बता दें, ये खबर न केवल व्हाट्सप पर है बल्कि फेसबुक और ट्विटर पर है। वैसे जब हमने इस खबर की तह तक जाने की कोशिश की पता चला कि खबर झूठी है क्योंकि जब हमने www.nasaalert.com पर विजिट करने की कोशिश की तो साइट ओपन नहीं हो रहा था। वही ब्राउज़िंग के समय इसका साइट नाम चेंज हो जा रहा था। इसके साथ यदि नासा के अनुमान की बात करे तो भूकंप की अधिकतम तीव्रता 6 और 7 रिक्टर स्केल है। यदि इस रिक्टर स्केल में भूंप आ जाए तो बहुत तबाही होती है। delhi earthquake news

सुनामी का रूप ले लेता है। delhi earthquake news

वही रिक्टर स्केल 9.1 या 9.2 तीव्रता वाला भूकंप जापान और इंडोनेशिया में आया है जो सुनामी में बदल गया है और यह दो देश भूकंप का केंद्र है। वैसे एक तथ्य यह भी है कि यदि भूकंप की तीव्रता 9.1 या 9.2 हो तो ये सुनामी का रूप ले लेता है। ऐसे में यह खबर ऐसे ही झूठी साबित होती है। इसलिए हम आपलोगों से आग्रह करते है कि सोशल मीडिया पर जो भी खबर फैलाई जाती है उनकी पूरी जानकारी हासिल करने के बाद ही उस पर विश्वास करे, केवल पढ़ कर जल्दबाजी में फैसला न लें। delhi earthquake news

सलमान खान को नहीं मिला बेल, जमानत की सुनवाई पर ऑर्डर कल

वैसे अधिकांश टीवी चैनल पर भूकंप को लेकर सचेत रहने की सलाह दी जा रही है। इसकी मुख्य वजह व्हाट्सप का मैसेज नहीं है बल्कि हिमालय की तराई में हो रहे परिवर्तन है। जिसमें बताया जा रहा है कि जिस तरह से ग्लोबल वार्मिंग का इम्पैक्ट हिमालय और बाकी के हिस्सों पर पड़ा है। उससे पृथ्वी के अंदर के प्लेट्स भी अपनी जगह से खिसक चुकी है। इस बारे में प्रोफेसर सौमित्र मुखर्जी ने कहा कि जिस तरह पृथ्वी के भीतर एक प्लेट्स खिसकने से बाकी प्लेट्स भी अपनी जगह बदलेगा। ऐसा में भूकंप का आना लाजमी है वही भूगर्भ वैज्ञानिक भी भूकंप की बात करते रहे है। वही दूसरी ओर दिल्ली के कंस्ट्रक्शन से ऐसा पता चलता है कि यदि भूकंप नार्मल भी रहे तो भारी तबाही निश्चित है। ऐसे में भले ही भूकंप अप्रैल के महीने में न आए लेकिन जब आएगा तबाही तो जरूर लाएगा। delhi earthquake news

हेपेटाइटिस बी और पीलिया का घरेलु उपचार