केजरीवाल नहीं कर रहे हैं काम, जनता हैं परेशान।

दिल्ली में केजरीवाल की सरकार ठप्प पड़ी। केंद्र में मोदी सरकार ने केजरीवाल पर केद्र सरकार की कई महत्वपूर्ण योजनाओ को दिल्ली में लागु नहीं किये जाने का आरोप लगाया हैं। साथ ही कहा हैं की इसका खामियाजा दिल्ली की जनता को भुगतना पड़ रहा हैं delhi goverment fail public upset.

इसमे शहरी विकास से जुड़ी कई योजनाए हैं। जिनमे स्वच्छ भारत मिशन अटल मिशन फॉर रेजुवनेशन एंड अर्बन ट्रांसफॉर्मेशन और हाउसिंग फॉर आल प्रमुख हैं।

दरअसल स्वच्छता मिशन के तहत २०१९ तक दिल्ली के १.२५ लाख घरो में टॉयलेट बनाने का टारगेट हैं। केजरीवाल सरकार इस पर काम नहीं कर रही हैं पिछले २ वर्ष में केजरीवाल सरकार ने १ भी घर में टॉयलेट नहीं बनवाया हैं।

कम्युनिटी और पब्लिक टॉयलेट्स के तहत भी सिर्फ ७०८८ टॉयलेट्स बनाए गए हैं जबकि १९५५९ टॉयलेट्स बनाने का टारगेट था।

शहरी विकास मंत्रालय के एक सीनियर अधिकारी ने कहा हैं की केजरीवाल ने इस पर काम नहीं किया हैं।

इन टार्गेट्स को मंत्रालय की तरह से एक तरफ़ा सेट नहीं किया गया था। ये टार्गेट्स दिल्ली सरकार द्वारा शहरी विकास मंत्रालय के अधिकारियों के साथ बातचीत के जरिये सेट किये जाने थे।

सिद्धू की चाल फसेंगे कांग्रेस या केजरीवाल।

बाद में इन प्लान्स पर केजरीवाल सरकार ने बैठक तो की मगर इन पर अब तक काम नहीं किया हैं। जिसका खामियाज़ा दिल्ली की जनता को भुगतना पड़ रहा हैं।

प्रधानमन्त्री आवास योजना के तहत दिल्ली सर्कार ने अभी त६अक एक भी प्रस्ताव नहीं भेजा। आवास और शहरी गरीबी उन्मूलन मंत्रालय के आंकड़ो से पता चला हैं की इस प्रोग्राम को गैर बीजेपी राज्य भी अपने यहाँ लागू कर चुके हैं। delhi goverment fail public upset, delhi goverment fail public upset, delhi goverment fail public upset, delhi goverment fail public upset