गांगुली की वजह से महेंद्र सिंह धोनी ने क्रिकेट को कहा बाय-बाय




कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने बुधवार को एकदिवसीय और टी20 टीम की कप्तानी से त्याग पत्र दे दिया। इसकी सुचना बीसीसीआई ने बीती रात दी। बीसीसीआई के तरफ से दी गयी सुचना में बताया गया है कि भारत के सबसे सफल कप्तान महेंद्र सिंह धोनी अब टीम की कप्तानी नहीं करेंगे। उन्होंने युवा वर्ग को अधिक अवसर देने के लिए यह कदम उठाया है। हालांकि, वो टीम में बने रहेंगे। dhoni quit indian captaincy 

सौरभ गांगुली बन सकते है बीसीसीआई के नये अध्यक्ष !

आपको बता दें कि महेंद्र सिंह धोनी का यह फैसला उस वक्त आया है जब भारत और इंग्लैंड के बीच तीन एकदिवसीय और 2 टी20 मैच खेला जाना है। इस सीरीज में धोनी विकेटकीपर-बल्लेबाज के रूप में टीम में मौजूद रहेंगे। dhoni quit indian captaincy 

ज्ञात रहे, धोनी सप्राइज़ देने में माहिर है। इससे पहले भी उन्होंने ऑस्ट्रेलिया सीरीज के दौरान 2015 में अचानक टेस्ट मैच से सन्यास ले लिया था। जिससे क्रिकेट पंडित भी भौचक्के रह गये थे। कुछ जानकारों का कहना है कि लम्बे गैप के कारण धोनी को ये फैसला लेना पड़ा । वही कुछ क्रिकेट पंडितों का कहना है कि विराट की विनिंग परफॉरमेंस से धोनी ने कप्तानी की जिम्मेवारी कोहली को देने की सोची है । dhoni quit indian captaincy

लेकिन विश्वस्त सूत्रों से पता चला है कि अनुराग ठाकुर की बर्खास्तगी के बाद से सौरव गांगुली का नाम बीसीसीआई अध्य्क्ष पद के लिए सुर्ख़ियों में है। ऐसे में धोनी का सन्यास लेना बड़ी बात नहीं है क्योंकि जगजाहिर है कि धोनी और गांगुली के बीच आपसी संबंध मधुर नहीं है। जिस कारण धोनी ने पहले ही टीम से खुद को किनारा कर लिया।

क्या धोनी टीम के साथ 2019 तक बने रहेंगे ?

हालांकि, बीसीसीआई ने अभी आधिकारिक तौर पर पुष्टि नहीं की है कि धोनी का कप्तानी से सन्यास लेने की वजह क्या है, और क्या धोनी टीम के साथ 2019 तक बने रहेंगे ? dhoni quit indian captaincy 

ये तमाम तरह के सवाल सभी के जेहन में है। अब देखना है कि बीसीसीआई इंग्लैंड के खिलाफ भारतीय टीम की कप्तानी का जिम्मा किसे सौपती है और धोनी को कौन सी जिम्मेवारी दी जाती है। dhoni quit indian captaincy