दिल्ली के दंगल में बीजेपी का मंगल




मोदी लहर जी हां, मोदी लहर का एकत्व प्रभाव जारी है। कश्मीर से कन्याकुमारी , पोरबंदर से सिल्चर तक बस एक ही नारा है। नमो नमो……… मोदी मोदी। 2015 में विधान सभा चुनाव में आप का जो करिश्मा चला वो दिल्ली नगर निकाय चुनाव में चल नहीं पाया और आप के बाप ने बाजी मार ली है। मोदी की जीत का मुख श्रेय केजरी और राहुल बाबा को मिलना चाहिए क्योंकि जितनी लग्न मोदी जी ने जीत के लिए की थी। उससे कही अधिक केजरी और राहुल बाबा ने उनके जीत के लिए मेहनत की है। dilli ke dangal bjp ka mangal 

केजरीवाल को अब राजनीति से सन्यास ले लेना चाहिए।

मतदान से पूर्व ही ऐसा आभास हो गया था कि बीजेपी ही बाजी मारेगी और इसके लिए बीजेपी पूर्व से आशान्वित भी थी। नतीजा उम्मीद की कसौटी पर खड़ा उतरा। बीजेपी पूर्ण और प्रचंड बहुमत से दिल्ली नगर निकाय चुनाव जीत रही है। वही आप के खटिया खड़ी हो गयी। आप की ऐसी बजी है की आप के सभी नेता बौखलाए हुए है। अब आप के नेता इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन पर हार का ठीकरा फोड़ रहे है। जबकि कांग्रेस दिमाग से पैदल हो गयी है। कांग्रेस की वरिष्ठ नेता और दिल्ली की पूर्व सीएम ने हार के लिए कांग्रेस पार्टी को ही जिम्मेवार बनाया है। उनका कहना है कि कांग्रेस के दिग्गज नेताओं ने उन्हें प्रचार के लिए नहीं कहा। dilli ke dangal bjp ka mangal 

दिल्ली MCD चुनाव परिणाम लाइव अपडेट्स

जिस कारण कांग्रेस की ये दुर्दशा है। खैर जो भी हो, मोदी लहर जारी है। मोदी सेना ने ऐसा कमाल किया है जो स्वतंत्र भारत में पहली बार हुआ है। इससे पूर्व किसी भी पार्टी का एकछत्र इस प्रकार नहीं छाया जो मोदी के नेतृत्व में हुआ है। बीजेपी कुल 270  में 180 सीट पर आगे है। जबकि कांग्रेस 35 और आप को महज45 सीट पर आगे है। दिल्ली नगर निकाय के चुनाव से केजरवाल के राजनैतिक भविष्य का भी फैसला हो गया है कि केजरीवाल को अब राजनीति से सन्यास ले लेना चाहिए। dilli ke dangal bjp ka mangal 

( प्रवीण कुमार )