राबर्ट्सगंज-धंधरौल पेयजल योजना‘‘ का जिलाधिकारी ने किया निरीक्षण




राबर्ट्सगंज शहर में शुद्ध पेयजल आपूर्ति के लिए ‘‘राबर्ट्सगंज -धंधरौल पेयजल योजना‘‘ के निर्माण कार्य में ठेकेदार द्वारा रूचि न लेना और अधिशासी अभियन्ता जल निगम द्वारा पर्यवेक्षणीय अभाव में निर्माण कार्य काफी धीमा होने के लिए ठेकेदार के साथ ही अधिशासी अभियन्ता जल निगम सीधे तौर पर जिम्मेदार हैं। शुद्ध पेयजल जैसी अहमियत आवेज योजना की उपेक्षा के लिए जल निगम ठेकेदार के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराते हुए अपने शिथिल नियंत्रण के लिए खामियाजा भुगतने के लिए तैयार रहें। dm checked hand pump plant

उक्त चेतावनी जिलाधिकारी प्रमोद कुमार उपाध्याय ने ‘‘राबर्ट्सगंज -धंधरौल पेयजल योजना‘‘ के ट्रीटमेन्ट प्लांट के निर्माण स्थल का स्थलीय निरीक्षण करते हुए सम्बन्धितों को दिये। जिलाधिकारी श्री उपाध्याय अचानक अपने ओएसडी अमरपाल गिरि व मीडिया प्रभारी नेसार अहमद के साथ लगभग 98 करोड़ की लागत से बन रही राबर्ट्सगंज शहर को शुद्ध पेयजल मुहैया कराये जाने सम्बन्धी ‘‘राबर्ट्सगंज -धंधरौल पेयजल योजना‘‘ के ट्रीटमेन्ट प्लांट स्थल पर पहुंचे। dm checked hand pump plant

जिलाधिकारी वाटर ट्रीटमेन्ट प्लांट परिसर का निरीक्षण किया और निरीक्षण के दौरान पाया कि पूर्व में जिलाधिकारी स्तर से किये गये स्थलीय निरीक्षण व निर्देश के बावजूद भी अधिशासी अभियन्ता के शिथिल नियंत्रण व ठेकेदार नरेन्द्र कुमार गुप्ता की लापरवाही से अभी भी निर्माण कार्य काफी धीमी गति से है। जिलाधिकारी ने पाया कि एक महीने पहले निरीक्षण के दौरान चार मजदूर काम कर रहे थे, वहीं मौके पर उन्होंने छः मजदूरों को पाया और ट्रीटमेन्ट प्लांट के पीलरों के लिए खुदाई का भी काम नहीं हो पाया है। dm checked hand pump plant

जल निगम से 24 घंटे के अन्दर तलब किया।

उन्होंने अधिशासी अभियन्ता जल निगम निर्माण शाखा को तलब किया और दौड़े-दौड़े शिथिल नियंत्रण के हकदार अधिशासी अभियन्ता जल निगम को दायित्बवोध कराते हुए कड़ी फटकार लगायी, फिर उन्होंने महाप्रबन्धक उ0प्र0 जल निगम, लखनऊ से सीधी वार्ता की और अधिशासी अभियन्ता तथा ठेकेदार के लापरवाही पूर्ण कार्यों को बताते हुए दोनों के खिलाफ कार्यवाही करने के लिए कहा। dm checked hand pump plant

जिलाधिकारी ने लापरवाह ठेकेदार के मौके पर मौजूद दो कार्मिकों को पकड़वाते हुए अधिशासी अभियन्ता जल निगम के हवाले करते हुए कहा कि जन कल्याणकारी योजनाओं की उपेक्षा करने के आरोप में इनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश दिये। dm checked hand pump plant

जिलाधिकारी ने निरीक्षण के दौरान पाया कि अब तक लगभग 30 करो़ड़ की रकम प्राप्त करते हुए अधिशासी अभियन्ता जल निगम व ठेकेदार द्वारा भुगतान कर लिया गया है और काम भी धरातल पर शासन की मंशा के अनुरूप दिखाई नहीं दे रहा है। उन्होंने 30 करोड़ के खर्च का ब्यौरा अधिशासी अभियन्ता जल निगम से 24 घंटे के अन्दर तलब किया। dm checked hand pump plant

जिलाधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि ‘‘राबर्ट्सगंज -धंधरौल पेयजल योजना‘‘ के निर्माण कार्य काफी धीमा होने, ठेकेदार द्वारा मनमानी करने,अधिशासी अभियन्ता जल निगम निर्माण शाखा का शिथिल नियंत्रण पाये जाने पर प्रमुख सचिव नगर विकास अनुभाग- 5 उ0प्र0 शासन को लापरवाह ठेकेदार के खिलाफ और अधिशासी अभियन्ता जल निगम सहित सम्बन्धित अधिकारियों के खिलाफ कदम उठाने के लिए जिलाधिकारी स्तर से पत्र भी भेज दिये गये हैं। dm checked hand pump plant