चीन की धमकी से बेफिक्र होकर भारतीय सेना ने डाला डेरा




<h1>

Doklam Dispute चीन की धमकी से बेफिक्र होकर भारतीय सेना</h1>
भारत अब किसी भी हालात में चीन के सामने झुकने को तैयार नहीं है। भारतीय सेना डोकलाम में डटे रहने की पूरी तैयार कर चुका है।चीन ने भारत से कहा है कि वह अपनी सेना को डोकलाम से वापस बुला ले, लेकिन भारत ने कड़े रुख का परिचय देते हुए साफ कर दिया है कि वह यहां से नहीं जाने वाला है, जबतक चीनी सेना वहां से नहीं जाती है। सिक्किम सेक्टर में करीब 10,000 फुट की ऊंचाई पर स्थित क्षेत्र मों दोनों सेनाओं के बीच तनातनी बरकरार है। भारत ने लगातार वहां सैनिकों की संख्या को बढ़ा रहा है, जिसके लिए खास इंतजाम किए हैं। Doklam Dispute

भारत ने साफ संकेत दे दिए हैं कि किसी भी हालात में भारतीय सेना चीन के किसी दबाव में नहीं झुकेगी। ऐसा कहा जा रहा है कि इस तरह की समस्या का हल कूटनीति स्तर पर हुआ है हालांकि चीन पूरी तरह से आक्रामकता का परिचय दे रहा है और वह किसी भी समझौते को तैयार नहीं है। चीन का कहना है कि गेंद भारत के पाले में है। उसे निर्णय करना है कि वह यहां से लौटती है या नहीं। गौरतलब है कि भारत ने डोकलाम में अपनी सेना भेजकर वहां सड़क बनाने में जुटे चीनी सैनिकों का ध्यान भंग किया है। Doklam Dispute

अब भारत चीन को ध्यान में रख कर बना रहा परमाणु हथियार





चीन यहां सड़क निर्माण कर रहा है जबकि यह इलाका भूटान का है। चीन ने इसके बहाने यह कह रहा है कि वह भी जम्मू कश्मीर मामले में दखल देगा। दरअसल चीन ने इस इलाके में सड़क निर्माण की कोशिश में लगा है जिसको लेकर तनातनी शुरू हुई है। भारत में इस क्षेत्र को डोका ला नाम से बुलाता है, भूटान इसे डोकलाम कहता है जबकि चीन इसे अपने डोंगलाग क्षेत्र का हिस्सा बताता है। भारत ने जिस प्रकार से तेजी से इसबार सेना को इस क्षेत्र में भेजा है जिससे चीन स्तब्ध है। और लगातार धमकी दे रहा है। चीन ने तो यहां तक कहा कि भारत को 1962 के युद्ध से सबक लेनी चाहिए। इसके जवाब में भारत ने भी कहा है कि अब 1962 वाला भारत नहीं है।

loading…