आतंकवाद को खत्म करने के लिए डोनाल्ड ट्रम्प की तरह मोदी भी बाँट सकते है अपना मोबाइल नंबर




अमेरिकी राष्ट्रपति नए परंपरा डालने में लगे हैं जिसके तहत वे राजनयिक के साथ सीधे बातचीत में लगे हैं जिसकी इजाजत उन्हें सुरक्षा के कारणों से नहीं दी जाती है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपना मोबाइल नंबर दूसरे राज्यों के राष्ट्राध्यक्षों के बीच शेयर किया है। यह कदम राजनयिक प्रोटोकॉल का उल्लंघन कहा जा रहा है। जिसमें अमेरिकी कमांडर की सुरक्षा और गोपनीयता की चिंताएं हो रही है। donald tru मदर ऑफ बम्सmp distributing mobile number  

मदर ऑफ बम्स

अमेरिकी राष्ट्रपति ने कई राजनयिक को फोन नंबर दिया है लेकिन अभी तक केवल कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन टूरंडो ने इस प्रस्ताव का फायदा उठाया है। जो ट्रंप से सीधे बातचीत की है। डोनाल्ड ट्रंप ने फ्रांस के नए चुने गए राष्ट्रपति इमन्युएल मैकरॉन के साथ अपने मोबाइल नंबर एक्सचेंज किए हैं। हालांकि अभी तक मैकरॉन ने इसका इस्तेमाल नहीं किया है। donald trump distributing mobile number  

गौरतलब है कि जिस प्रकार से वर्ल्ड ट्रेड टावर पर हमले हुए थे उसी समय ह्वाइट हाउस पर भी हमले हुए थे जिसमें जॉज बुश द्वीतीय बच तो गए लेकिन उसके बाद उनकी सुरक्षा और कड़ी कर दी गई। अगर डोनाल्ड ट्रंप ऐसे ही फोन नंबर का एक्सचेंज करते रहेंगे तो तय है कि आने वाले दिनों में इनकी गोपनियता खत्म हो जाएगी जिसका फायदा आतंकवादी कर सकते हैं। donald trump distributing mobile number  

डोनाल्ड ट्रंप

इनकी सुरक्षा और गोपनियता पर सवाल खड़े हो रहे हैं। डोनाल्ड ट्रंप को यह पता होने की आवश्यकता है कि वे सबसे शक्तिशाली राष्ट्र के सुप्रीमो हैं और ऐसे कोई भी घटना होगी तो इसका असर विश्व राजनीति पर सीधे तौर पर पड़ेगा। donald trump distributing mobile number  

यात्रा और परिक्रमा करने से कांग्रेस के अच्छे दिन आ जायेंगे: राहुल गाँधी

डोनाल्ड ट्रंप ऐसे कई कार्य कर रहे हैं जो पहले के राष्ट्रपति नहीं करते थे। अपने बेवाकी और सीधे तौर पर कार्यवाही के लिए इनका कार्यकाल बनता जा रहा है। अमेरिकी राष्ट्रपति पिछले दिनों आतंकवादियों के सफाया के लिए अभी तक इस्तेमाल नहीं हुए मदर ऑफ बम्स का इस्तेमाल भी किया।  donald trump distributing mobile number