मोदी जी नेक दिल इंसान है गद्दार तो गाँधी परिवार है : केजरीवाल




अरविंद केजरीवाल पंजाब में अपनी पार्टी को फिर से जान फूंकने के लिए नई रणनीति पर कार्य कर रहे हैं। पंजाब में विरोधी दल की सकारात्मक भूमिका निभाने को तैयार है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि कांग्रेस ने जो प्रदेश में वादे किए और उसे पूरा नहीं कर पा रही है। सरकार के खिलाफ आंदोलन किया जाएगा। अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कैप्टन अमरेंद्र सिंह ने जो वादे किये थे कि हर घर में नौकरी, किसानों को कर्ज मुक्त, नौजवानों को स्मार्ट फोन, बुजुर्गों को 2500 रुपए पेंशन दिया जाएगा। वह कहां पूरा हो रहा है। gadnhi parivar gaddar hai 

फायदा भाजपा अकाली दल ले जाएगा

अब कैप्टन अमरेंद्र सिंह अपने किए गए वादे से भाग रहे हैं हम उन्हें भागने नहीं देंगे। केजरीवाल ने अपने वालंटियरों से कहा कि हम उनके वादाखिलाफी को लेकर जल्द ही आंदोलन शुरू करेंगे। कांग्रेस ने कई ऐसे वादे किए हैं जिसपर अब पूरा करने का समय है लेकिन कांग्रेस इस पर कुछ नहीं कर रही है। भाजपा जैसे ही वादे करने के बाद भाग रही है। gadnhi parivar gaddar hai 

सरकार की नाकामियों को दिखाता है

गौरतलब है कि पंजाब विधानसभा चुनाव के अभी कुछ दिन ही हुए हैं। विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी को पूरा विश्वास था कि उनकी पार्टी सरकार बना लेगी। लेकिन कांग्रेस ने बाजी मार ली। आम आदमी पार्टी दूसरे नंबर पर रही और विरोधी दल की भूमिका में है। और अब पंजाब में वह आक्रामक विरोधी दल की भूमिका निभाना चाहती है। gadnhi parivar gaddar hai 

मैंने तो केवल 5 झुग्गी तुड़वाई है मोदी ने तो पूरा गुजरात जला दिया था : तेज़ प्रताप यादव

जिससे की आने वाले समय में आम आदमी पार्टी का जनाधार बना रहे और इसका फायदा राजस्थान के चुनाव में भी मिले। आम आदमी पार्टी दिल्ली में सरकारी स्कूलों के परिणाम को भी पंजाब से तुलना कर रहे हैं और यह बताने में हिचक नहीं कर रहे हैं कि दिल्ली के परिणाम बहुत बेहतर हैं जबकि पंजाब के परिणाम काफी कम है। gadnhi parivar gaddar hai 

जो सरकार की नाकामियों को दिखाता है। अरविंद केजरीवाल पंजाब में किसी भी तरह से आम आदमी पार्टी का जनाधार बनाए रखने की पूरी कोशिश में लगे हैं। जिसके लिए कांग्रेस को न चाहकर भी घेर रहे हैं। नहीं तो इसका फायदा भाजपा अकाली दल ले जाएगा।

विदित रहे कि पंजाब, गोवा में हार के बाद केजरीवाल की बोलती बंद हो गयी थी। वही बची खुची साख दिल्ली नगर निगम चुनाव में गिर गयी। जब आप की दिल्ली नगर निगम चुनाव में करारी शिकस्त हुई। चुनाव हार के बाद केजरीवाल के तेवर ही बदल गए। हाल में वो पीएम मोदी की हिमायत करने में लगे है। इसकी वजह उनपर 2 करोड़ रूपये के गवन है।  gadnhi parivar gaddar hai 

जिसकी जाँच सीबीआई कर रही है। ऐसे में केजरीवाल फुक फुक कर चलने में लगे है। हाल ही में उनको और केंद्रीय शहरी मंत्री वैंकया नायडू को एक मंच साझा करते हुए देखा गया। जब दोनों आईटीओ और कश्मीरी गेट रेल मेट्रो का शुभारंभ करने गए थे। वैसे भी केजरीवाल को इस बात का आभास हो चूका है कि जो लहर अभी देश में है उस लहर के विपरीत जाने से उन्हें अधिक नुकसान हो सकता है। ऐसे में केजरीवाल के पास मोदी के समर्थन के सिवाय और कोई चारा नहीं है।    gadnhi parivar gaddar hai