शहीद पिता का गद्दार बेटी गुरमेहर कौर, केजरीवाल




रामजस कॉलेज में हिंसक झड़प के बाद देश की राजनीति में फिर से देश द्रोही और देश प्रेमी की खूब चर्चा हो रही है। सोशल साइट, इलेक्ट्रिक मीडिया पर देश दो खेमे में बंट गया है। कुछ चैनल और लोग देश विरोधी तत्व को समर्थन कर रहे है तो अधिकांशत लोग देश विरोधी तत्वो का विरोध कर रहे है। देश विरोधी ताकतों का विरोध करना देश के लिए हितकर है। क्योंकि यदि आज हम इस तरह की गतिविधि पर नकेल नहीं कसेंगे तो भविष्य में ये बेरुखी हमें फिर से गुलाम बना देगी। gurmareh kaur gaddar hai 

विपक्ष और असमाजिक तत्व के लोग इस मुहीम में पूरी तरह से जुटी है कि किसी तरह देश को भाषा, जाति, धर्म के आधार पर बाँट दिया जाये और देश पर राज किया जाए। इसी का नतीजा है कि पिछले साल देश में देश विरोधी कनैह्या कुमार का जन्म हुआ । अब गुरमेहर कौर का । gurmareh kaur gaddar hai 

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् ने जमकर विरोध किया।

जी हां, ताजा घटनाक्रम डीयू के रामजस कॉलेज का है। जंहा अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् ने जेनयू के छात्रों का विरोध किया था। ABVP का उमर खालिद जैसे देशविरोधी तत्वों का विरोध करना बिलकुल जायज है। इसमें रंचमात्र भी संदेह नहीं है कि जेनयू के छात्र देश विरोधी है । ऐसे में ये डीयू में भी देश विरोधी विचार से युवाओं को भटकाने की फ़िराक में है। जिसका अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् ने जमकर विरोध किया। ये विरोध रामजस कॉलेज में हुआ। डीयू के कार्यक्रम में शामिल होने आये जेनयू के छात्रों को अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् के कार्यकर्ताओं ने खदेड़ कर भगाया। gurmareh kaur gaddar hai

राजमस में हिंसक झड़प के बाद पुलिस ने मामले को भापंते हुए डीयू के सभी कॉलेजों में सुरक्षा व्यवस्था मजबूत कर दी है। पुलिस ने बताया कि स्थिति नियंत्रण में है। लेकिन जमीन की ये लड़ाई अब सोशल साइट और मीडिया पर आ चुकी है। रामजस कॉलेज में हिंसक झड़प के बाद श्री राम कॉलेज की छात्रा गुरमेहर कौर  ने एक तख्ती पर ” मेरे पिता को पाकिस्तान ने नहीं बल्कि युद्ध ने मारा है, मैं अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् से नहीं डरती क्योंकि शहीद कप्तान की बेटी हूँ ” लिखकर सोशल साइट फेसबुक पर शेयर किया। एक शहीद की बेटी से इस प्रकार की उम्मीद नहीं थी। हालांकि, इसका उधारण पूर्व में मिल चूका है। जब कनैह्या कुमार, उमर खालिद जैसे छात्र ने देश के नाम को बदनाम किया। gurmareh kaur gaddar hai 

वैसे, गुरमेहर कौर के इस बयान के बाद सोशल साइट पर जमकर आलोचना की गयी। क्रिकेट के महानतम बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने भी गुरमेहर कौर के बयान की प्रतिक्रिया देते कहा, मैंने भी देश के लिए दो तिहरे शतक लगाया। मैं देश की सेवा तन, मन धन से करता हूँ। देश विरोधी लोगों को मेरा बल्ला जबाब देता था। gurmareh kaur gaddar hai 

वही रणदीप हुड्डा ने भी गुरमेहर कौर के बयान की कड़ी आलोचना करते हुए ट्विटर पर लिखा कि अभिव्यक्ति की आजादी सभी को है। लेकिन देश विरोधी विचार को प्रस्तुत कर आप अपने पापा के आदर्शो और क़ुरबानी को अपमानित कर रहे है। gurmareh  kaur gaddar hai 

मैं राष्ट्र के खिलाफ हूँ क्योंकि सरकार की वजह से मेरे पापा की जान गई : गुरमेहर कौर

जबकि गृह राज्य मंत्री किरिन रिजिजू ने कहा कि गुरमेहर कौर का दिमागी संतुलन सही नहीं है। शायद, उनको पता नहीं, आज उनके पिता होते तो शर्म से मर जाते। उन्होंने देश की रक्षा हेतु अपनी कुर्बानी दी। जिसका देश ऋणी है। लेकिन गुरमेहर कौर ने अपने पिता के वसूलों और आदर्शों को डुबो दिया है। gurmareh kaur gaddar hai 

 गौरतलब है कि गुरमेहर कौर के समर्थन में पूरा विपक्ष फिर से एकसाथ हो चुकी है। केजरीवाल, राहुल गाँधी और वामपंथी नेता गुरमेहर कौर के बहाने जमकर राजनीति कर रहे है। हालांकि, सोशल साइट पर ये भी खबर है कि गुरमेहर कौर कप्तान के बेटी नहीं है। बल्कि वामपंथी विचारधारा की जननी है। जिसे केवल हथियार के रूप में विपक्ष और वामपंथी प्रयोग कर रही है। अब इस बात में कितनी सच्चाई है, ये तो वक्त आने पर पता चल जाएगा। लेकिन जिस तरह से गुरमेहर कौर ने अपनी पॉपुलरटी के लिए देश विरोधी विचारधारा को हवा दी है। उससे देश स्तब्ध है। gurmareh kaur gaddar hai 

( प्रवीण कुमार )