16 वर्ष बाद बना ऐसा संयोग जब माँ दुर्गा का आगमन अश्व से और प्रस्थान भैंसा से होगा, जानिए किस राशि के लिए यह शुभ है !




इस बार नवरात्र में महासंयोग बन रहा हैं यह विशेष संयोग 16 वर्ष बाद बन रहा हैं। शारदीय नवरात्र इस बार 10दिन होंगे। ये 10 दिन सुख समृद्धि दायक होंगे दूज तिथि लगातार २ दिन होने के कारण इस बार नवरात्र 9 की जगह 10 दिन के होंगे श्राद पक्ष समाप्त होते ही शारदीय नवरात्र आरम्भ हो रहे हैं।  happy navratri 2016

1 अक्टूबर से शुरू हो कर शारदीय नवरात्र उत्सव 10 अक्टूबर तक चलेगा। इस बार दुर्गा जी अश्व पर आएंगी और भैंसा पर बैठ कर जाएगी। इस बार गजकेश्वरी महासंयोग बन रहा हैं ऐसा इसलिए हो रा क्योंकि इस बार गुरु और चन्द्रमा दोनों एक साथ कन्या राशि में लग्र स्थान पर होने से इस महा संयोग बन रहा हैं शारदीय नवरात्र में शक्ति स्वरूपा माँ दुर्गा की 9 दिनों तक आराधना की जाती हैं विशेष बात यह हैं की इस बार माँ का आगमन अश्व से और प्रस्थान भैंसे से होंगा। 

11 अक्टूबर को दशहरा मनाया जाएगा happy navratri 2016

रविवार व सोमवार को माँ का आगमन हाथी से होता है
शनिवार व मंगलवार को घोड़ा से आगमन होता है
गुरुवार व शुक्रवार को पालकी से आगमन होता है happy navratri 2016

बुधवार को माँ का आगमन नौका से होता है।
रविवार व सोमवार को माँ भैसा से प्रस्थान करती है
शनिवार और मंगलवार को सिंह से प्रस्थान करती है happy navratri 2016
बुधवार व शुक्रवार को गज हाथी से प्रस्थान करती है
गुरुवार को नर वाहन से प्रस्थान करती है। happy navratri 2016

 जानिए सूर्य ग्रहण के प्रभाव से बचने के तरीके

हस्त नक्षत्र में शनिवार के दिन घट स्थापना के साथ शक्ति उपासना का पर्व काल शुरु होगा। हस्त नक्षत्र में शनिवार के दिन यदि देवी दुर्गा की आराधना का पर्व शुरू हो तो यह देवीकृपा व इष्ट साधना के लिए विशेष रूप से शुभ माना जाता है। नवरात्रे के दसो दिन माँ की विशेष पूजा अर्चना की जाएगी जबकि 11 अक्टूबर को दशहरा मनाया जाएगा। happy navratri 2016

1 अक्टूबर- गजकेशरी योग, घटस्थापना।
2 अक्टूबर- द्विपुष्करयोग, द्वितीया। happy navratri 2016
3 अक्टूबर- रवियोग, द्वितीया।
4 अक्टूबर- रवियोग, तृतीया। happy navratri 2016
5 अक्टूबर- अमृतसिद्धियोग चतुर्थी,रवियोग।
6 अक्टूबर- सर्वार्थ सिद्धियोग, पंचमी षष्ठी।
7 अक्टूबर- रवियोग, षष्ठी।  happy navratri 2016
8 अक्टूबर – सरस्वती पूजन, पर्जन्य सप्तमी।
9 अक्टूबर- सिद्धियोग, महाष्टमी रवियोग सर्वार्थ।
10 अक्टूबर – रवियोग, महानवमी।
( सलोनी पांडेय )