गोरक्षा और लव जिहाद के लिए हर हिन्दू को भगत सिंह बनना जरुरी है : आरएसएस




गुजरात में चुनाव नजदीक है और इसी मद्देनजर विश्वहिंदू परिषद अपनी गतिविधि तेज कर दी है जिसमें युवाओं को अपनी ओर लुभाने के लिए के अस्त्र शस्त्र का वितरण किया जा रहा है। गुजरात के गांधीनगर में विश्वहिंदू परिषद और बजरंग दल ने ऐसे कारनामे किए हैं जिसको लेकर विरोधियों ने इनकी आलोचना कर रहे हैं। har hindu banega bhagat singh 

दरअसल विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल ने चार सौ युवाओं को त्रिशूल दीक्षा दी है। संस्था का दावा है कि अब तक छह लाख युवाओं को प्रदेश भर में त्रिशूल दीक्षा दी गई है। विश्व हिंदू परिषद इसे जायज ठहराते हुए कह रहे हैं कि जिस प्रकार से प्रदेश में गो हत्या की जा रही है इसकी रक्षा के लिए यह कदम उठाया गया है। har hindu banega bhagat singh 

राष्ट्रद्रोहियों को सबक सिखा सके

महिलाओं को लव जेहाद से बचाने और राम मंदिर निर्माण के लिए त्रिशूल वितरण किया गया है। विश्व हिंदू परिषद के महासचिव सुरेंद्र जैन का कहना है कि जिस प्रकार से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का विरोध करने के लिए केरल जैसे राज्यों में बीफ पार्टी की जा रही है इसको रोकने के लिए यह सब किया जाना आवश्यक हो गया है। यूथ कांग्रेस के लोग खुलेआम गोहत्या कर रहे हैं। यह कहां तक उचित है। har hindu banega bhagat singh 
दरअसल गुजरात में चुनाव है और इसी मद्देनजर लोगों में हिंदूत्व की भावना जागृत रहे तभी भाजपा को पूर्ण बहुमत प्राप्त होगा। इसी कारण से वीएचपी अभी से ऐसे मुद्दे गरमा रही है। ताकि युवा उनसे जुड़े रहे। विश्व हिंदू परिषद का कहना है कि त्रिशूल कानून अनुसार ही वितरित किया गया है। किसी आर्म्स एक्ट का उल्लंघन नहीं किया गया है। har hindu banega bhagat singh 

मोदी सरकार का ऐलान मुसलमानों को भी कहना पड़ेगा जय श्री राम

कानून सवंत ही कार्य किया गया है। यह सवाल किया जा रहा है कि आखिर नाबालिगों को क्यों इस तरह की शिक्षा दीक्षा दी जा रही है तो इसके जवाब विश्व हिंदू परिषद के पास है। उनका कहना है कि देश में कम उम्र से ही अस्त्र शस्त्र प्रशिक्षण की परंपरा रही है। धर्म और संस्कृति की रक्षा के लिए यह किया जाता है। जिस प्रकार से देश में अधर्म कार्य हो रहे हैं इसके लिए यह आवश्यक हो जाता है कि हम अपने बच्चे जो शेर हैं इन्हें प्रशिक्षण दें। ताकि वे राष्ट्रद्रोहियों को सबक सिखा सके। har hindu banega bhagat singh